बजबजाती नालिया जो लगभग पांच माह से नहीं हुई साफ

कुशीनगर(ब्यूरो) –  सरकार चाहे प्रदेश की हो या देश की लाख सफाई के लिए ढीढोरा पीट ले लेकिन सफाईकर्मी और जिम्मेदार नौकरसाह नहीं चाहते हैँ कि सरकार की योजना धरातल पर उतरे और सरकार की मंशा जनता के बीच जाय। इसका जीता जागता प्रमाण है नगर पालिका परिषद कुशीनगर के वार्ड-6 के बजबजाती नाली जो लगभग पांच माह से साफ नहीं हुई है और जिम्मेदार कुम्भकर्णी निद्रा में हैं।

गौरतलब है कि नगरपालिका कुशीनगर मे नीवास करनेवाले नागरिकों से लम्बे-लम्बे वादे करके वोट तो ले लिया गया लेकिन चुनाव जीतने के बाद एक बार भी उनकी सुध नहीं ली गई और तोहफे में वार्ड 9 (सिरसिया) बाबा साहेब आप्टे नगर  के वासियों को बजबजाती नाली व मच्छरों को दिया गया। वोट देने के बदले मिला बिमारीयों का अम्बार। आखिर मे ऐसे कैसे सफल होगा स्वच्छ भारत मिशन का सपना साकार। स्वच्छ भारत-स्वास्थ्य भारत के तहत सरकार पानी की तरह पैसा बहा रही है और ये नौकरसाह उस पैसे को बन्दर बाट करने में लगे हैं।

वार्ड वासियों ने बताया कि हमलोग लगभग पांच माह से इस बजबजाती नाली के साये में रह रहे हैं और सफाईकर्मी को देखे भी नहीं हैं। ये है नगरपालिका कुशीनगर का हाल। इस बजबजाती नाली को देखकर तो ये नगर नहीं नरकपालिका लग रहा है। नगरपालिका प्रशासन भी कुम्हकर्णी निद्रा का आनंद ले रहा है। ऐसे मे कैसे पुरा होगा सरकार का स्वच्छ भारत मिशन का सपना।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here