सपा को जिताने के लिये मुख्यमंत्री ने मांगा जन समर्थन

0
125

photo 03 (4)

photo 04 (3)
रायबरेली। आम तौर पर बहुत शालीन रहने वाले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधान सभा के चौथे चरण के चुनाव प्रचार मे उग्र नजर आ रहे है । सोमवार को उन्होने अपने मित्र दल कांग्रेस के गढ़ मे कांग्रेस का हाथ छोडकर न सिर्फ साइकिल चलाने का आवाहन किया। अपितु प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए गुजरात के एक विज्ञापन के हवाले से कहा कि सदी के महानायक गुजरात के छोटे बड़े गधों का प्रचार न करे।

मुख्यमंत्री सोमवार को ऊंचाहार विधान सभा मे पार्टी के उम्मीदवार मनोज पाण्डेय के समर्थन मे सभा को संबोधित कर रहे थे। इस सीट पर कांग्रेस और सपा दोनों दल के उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे है । उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री कहते है यूपी का विकास नहीं हुआ, और यहाँ दीपावली व रमजान मे बिजली आती है । ये बात पता नहीं उनको कौन बता रहा है । हम लोग तो कहते है कि गंगा माँ की ओर मुह करके झूठ नहीं बोलते लेकिन जिसको काशी ने चुना है वह सच नहीं बोलते। हमने तो काशी को 24 घंटे बिजली दी है । अब तो गधे के विज्ञापन होने लगे है, जिसमे छोटे गधे बड़े गधे है। हम सदी के महानायक से कहना चाहते है कि गुजरात के गधों की का प्रचार न करे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ समाजवादी लोग हाथ छोडकर तेज साइकिल चलाते है। ऊंचाहार मे भी हाथ का साथ छोडकर साइकिल चलाना है। सरकार कि उपलब्धियों को बखान करते हुए उन्होने कहा कि हर वर्ग के लिए काम हुआ है आगे भी काम करना है। हम घोषणा पत्र को जमीन पर उतरेगे। हमने लोगो को पेंशन दिया, आवास दिया, 108 और 102 एंबुलेंस, पुलिस के लिए 100 नंबर सेवा शुरू किया है। अब आगे सब गरीब महिलाओ को पेंशन और कोटे कि व्यवस्था को सुधारना है। नोटबंदी पर उन्होने कहा कि कहते थे अच्छे दिन लाएगे और पूरे देश को लाइन मे खड़ा कर दिया, गरीबो कि जान चली गयी। उन गरीबो को समाजवादी ने 2-2 लाख रुपये दिया है। धन काला सफेद नहीं होता, लेनदेन काला सफेद होता है । सभा को पार्टी प्रत्याशी मनोज पाण्डेय ने भी संबोधित किया । मुख्यमंत्री का स्वागत सलोन विधायक आशा किशोर, हरचंद पुर विधायक पंजाबी सिंह, सपा के जिला अध्यक्ष राम बहादुर यादव ने किया।
रिपोर्ट – राजेश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here