मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी के CM वीरेंद्र सिंह सरकार ने ध्वनिमत से जीता विश्वासमत

0
98


इंफाल : मणिपुर विधानसभा चुनाव 2017 में नंबर दो की पार्टी रहने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी ने सूबे में सफलतापूर्वक सरकार बना ली है। भारतीय जनता पार्टी ने ना केवल सरकार ही बना ली है, बल्कि सोमवार को विधानसभा सदन में हुए फ्लोर टेस्ट को भी ध्वनिमत से पास कर लिया है।

दरअसल आपको बता दें कि 11 मार्च को आए पांच राज्यों के चुनाव परिणामों में भारतीय जनता पार्टी को दो राज्यों उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश में पूर्ण बहुमत हासिल हुआ था जबकि गोवा और मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी दूसरे नंबर पर रही थी। 11 मार्च को आए चुनाव परिणामों की यदि हम बात करते हैं तो इन परिणामों में पंजाब में कांग्रेस को पूर्ण बहुमत जबकि गोवा और मणिपुर में पंजाब सबसे ज्यादा बहुमत के साथ पहले नंबर पर आई थी।

लेकिन इन दोनों ही राज्यों में सरकार बनाने का मौका कांग्रेस ने सूबे की सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी गंवा दिया। जबकि दूसरे नंबर पर रही भारतीय जनता पार्टी ने आगे बढ़ते हुए प्रदेशों में घटक दलों के साथ मिलकर अपनी सरकार सफलतापूर्वक बना ली है। ना केवल सरकार ही बना ली अपितु सदन में हुए फ्लोर टेस्ट को भी सफलता पूर्वक पास कर लिया है।

कांग्रेस के पूर्व मंत्री वीरेंद्र सिंह को BJP विधायकों ने चुना था विधानमंडल दल का नेता-
आपको बता दें कि जिन वीरेंद्र सिंह के हाथों में भारतीय जनता पार्टी ने मणिपुर में भरोसा दिखाया है वह बीरेंद्र सिंह पूर्व में कांग्रेस सरकार मैं कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं | वीरेंद्र सिंह ने कुछ समय पहले ही कांग्रेस को छोड़कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा था मणिपुर के सीएम वीरेंद्र सिंह ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी नेतृत्व को मणिपुर में उन्हें सीएम पद का उम्मीदवार बनाने के लिए धन्यवाद दिया है।

नागा पीपुल्स फ्रंट के समर्थन से भारतीय जनता पार्टी ने बनाई सरकार-
मणिपुर चुनाव में आए नतीजों के बाद दूसरे नंबर पर रही भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस के मुकाबले काफी कम सीटें हासिल करने के बाद भी प्रदेश में अपनी सफलतापूर्वक सरकार बना ली है दरअसल इसके पीछे सबसे बड़ा कारण नागा पीपुल्स फ्रंट के उन 4 सदस्यों के समर्थन का है जिन्होंने राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला से मुलाकात करने के बाद भारतीय जनता पार्टी को समर्थन देने की घोषणा की थी।

सूत्रों के हवाले से प्राप्त खबर के अनुसार बताया जा रहा है कि नागा पीपुल्स फ्रंट के 4 विधायकों ने प्रदेश की राज्यपाल नजमा हेपतुल्लाह से मुलाकात की थी और भारतीय जनता पार्टी को समर्थन देने की घोषणा की थी। जिसके बाद नजमा हेपतुल्ला ने भारतीय जनता पार्टी को सूबे में सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था, इसीके बाद ही 15 मार्च को बीजेपी नेता एन बीरेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और आज उन्हें विधानसभा में अपना बहुमत साबित करना था जिसे उन्होंने सफलतापूर्वक साबित कर लिया है। इस तरह से आपको बता दें कि गोवा के बाद मणिपुर ऐसा दूसरा राज्य है जहां पर भारतीय जनता पार्टी दूसरे नंबर पर होने के बावजूद भी सफलतापूर्वक सरकार बनाने में सफल रही है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY