सीएम ने दिए पुलिस भर्ती प्रक्रिया में बदलाव के संकेत, योग्यता का होगा सटीक मूल्यांकन

0
116


लखनऊ ब्यूरो : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को विधानसभा में पुलिस भर्ती प्रक्रिया में बदलाव का साफ संकेत दे दिया है। पिछली सरकार ने मेरिट के आधार पर भर्ती की नियमावली बनाई थी लेकिन, योगी सरकार लिखित परीक्षा के जरिए भर्ती कराएगी। इससे योग्यता का सटीक मूल्यांकन हो सकेगा। सरकार ने डेढ़ लाख आरक्षी की भर्ती पांच वर्षों में पूरा करने को कहा है। साथ ही इस वर्ष 30 हजार आरक्षी और दो हजार दारोगा भर्ती होंगे। जाति और लिंग के आधार पर कोई भेद नहीं होगा

सपा सरकार की बनाई गई नियमावली के अनुसार सिपाही भर्ती में अभ्यर्थियों का चयन दसवीं और 12 वीं कक्षा में प्राप्त अंकों एवं दौड़ के प्राप्त अंकों के आधार पर किये जाने का नियम बना था। भर्ती प्रक्रिया में किसी भी तरह का साक्षात्कार खत्म कर दिया गया था। दसवीं बोर्ड परीक्षा के आधार पर अधिकतम 100 अंक और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा के आधार पर अधिकतम 200 अंक दिए जाने तथा इस प्रकार अधिकतम 300 अंकों के आधार पर श्रेष्ठता सूची बनाने की नियमावली बनी थी

श्रेष्ठताक्रम से निर्धारित पद के 15 गुना अभ्यर्थियों को शारीरिक परीक्षा यानी दौड़ के लिए बुलाये जाने और कक्षा दस एवं 12 के तीन सौ अंक और दौड़ के 200 अंक यानी कुल पूर्णांक 500 में प्राप्त अंकों पर ही ज्येष्ठता सूची बननी थी। अब इस नियमावली में बदलाव होनी है

रिपोर्ट – मिंटू शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here