बड़गांव में एनकाउंटर और पत्थरबाजी पर CM महबूबा मुफ्ती ने सेना का किया खुला समर्थन, कहा युवाओं का आतंक से जोड़ना दुर्भाग्यपूर्ण

0
175

श्रीनगर- जम्मू कश्मीर के बड़गांव में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जारी मुठभेड़ में कार्यवाही के दौरान दो स्थानीय नागरिकों की मौत हो गई है। आपको बता दें कि श्रीनगर के चटगांव के चदुरा में जारी मुठभेड़ के चलते सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके की नाकेबंदी कर रखी है। सुरक्षा बलों की मौजूदगी और आतंकियों के बीच चल रहे संघर्ष का पता जैसे ही स्थानीय नागरिकों को चला, बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक वहां पर इकट्ठा हो गये और उन्होंने सुरक्षाबलों के ऊपर पत्थरबाजी शुरू कर दी। जिसके बाद जवाबी कार्यवाही में दो स्थानीय नागरिकों के मारे जाने की खबर है।

CM महबूबा मुफ्ती के काफिले पर भी हुआ पथराव-
बताया जा रहा है कि स्थानीय नागरिकों ने न केवल सुरक्षा बलों के ऊपर ही पथराव किया बल्कि उन्होंने जम्मू-कश्मीर उपचुनाव के मद्देनजर प्रचार करने जा रही थी। तभी सूबे की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के काफिले पर भी जमकर पथराव किया गया है।

उक्त दोनों ही घटनाओं के बाद प्रदेश की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि युवाओं का इस तरह से आतंक की तरफ झुकाव होना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने बताया कि सेना के जवानों ने आतंकियों को सरेंडर करने के लिए कहा था लेकिन आतंकियों ने सरेंडर करने की बजाय सेना के जवानों के ऊपर फायरिंग शुरू कर दी जिसके बाद जवाबी कार्यवाही करना सेना की मजबूरी बन गई थी। सेना के पास जवाबी कार्यवाही करने के अलावा और कोई भी अन्य विकल्प शेष नहीं रह गया था।

सोमवार को मिली थी खुफिया सूचना-
गौरतलब है कि सेना को सोमवार को इलाके में दो आतंकियों के छिपे होने की सूचना प्राप्त हुई थी उसके बाद सेना ने पूरे इलाके को घेर लिया था तथा सर्च अभियान चलाया था।

अपने आप को चारों तरफ घिरा देख कर आतंकियों ने सेना के जवानों के ऊपर फायरिंग शुरू कर दी जिसके बाद भी जवाबी कार्यवाही करते हुए सेना के जवानों ने आतंकियों को निशाना बनाने की कोशिश की लेकिन तभी सेना की मौजूदगी की भनक जैसे स्थानीय नागरिकों को लगी बड़ी संख्या में लोग वहां पर इकट्ठा हो गए और उन्होंने जवानों के ऊपर पत्थरबाजी शुरू कर दी इसके बाद जवाबी कार्यवाही मैं दो स्थानीय नागरिकों के मारे जाने की खबर है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY