बिना किसी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के ही गाँव पहुंच गए सीएम रमन सिंह

0
73

छत्तीसगढ़ (रा. ब्यूरो)- ग्राम झाल में अचानक मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के हेलीकॉप्टर उतरने से खलबली मच गई। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के विपरीत सीएम नवागढ़ विधानसभा के छोटे से गांव झाल पहुंचे। शनिवार दोपहर 12.25 बजे ग्रामीणों से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने लोक सुराज समाधान शिविर में आवेदनों की निराकरण की जानकारी ली। तय समय में समस्याओं के निराकरण का आश्वासन ग्रामीणों को दिया ।

नहीं होगी धान की खेती –
सीएम डॉ. रमन सिंह ने जिले में सूखे की समस्या को देखते हुए समाधान शिविर में कहा कि जरूरत पडऩे पर धान की खेती करने से किसानों को रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि सूखा प्रभावित लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए इस तरह के कड़े कदम उठाना समय की जरूरत है। समाधान शिविर में सीएम ने 40 महिलाओं को उज्जवला गैस सिलेंडर दिया। सीएम के हाथों गैस सिलेंडर पाकर महिलाएं भी काफी खुश नजर आई।

स्कूल खुलने से पहले किया जाए गणवेश का वितरण –
ग्राम झाल के लोक सुराज समाधान शिविर में डॉ. रमन सिंह ने मंच से अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि स्कूल खुलने से पहले ही बच्चों को गणवेश वितरण किया जाए। इसमें देरी बिल्कुल बर्दास्त नहीं की जाएगी। इसके अलावा उन्होंने मनरेगा मजदूरों के त्वरित भुगतान की व्यवस्था जल्द से जल्द करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। वहीं सूखा राहत राशि का भुगतान भी समय पर करने कहा। इस दौरान कलक्टर रीता शांडिल्य और एसपी टी एक्का भी उपस्थित थे।

सौगात के नाम पर मिला आश्वासन-
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने ग्राम झाल में जिले के नाम कोई नई सौगात नहीं दी। शिविर में आए ग्रामीणों को उन्होंने आश्वासन दिया कि उनके बच्चों को जाति, निवासी और अन्य जरूरी दस्तावेज स्कूल खुलने से पहले ही बन जाएंगे। इसके अलावा सभी प्रकार की सरकारी योजनाओं का लाभ उन्हें मिलेगा। मुख्यमंत्री करीब डेढ़ घंटे शिविर में रहे। उनके साथ केबिनेट मंत्री दयालदास बघेल और अलग-अलग विभागों के सचिव, प्रशासनिक अधिकारी और स्थानीय जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

सीएम दूसरी बार पहुंचे झाल –
प्रदेश के मुखिया शनिवार को दूसरी बार ग्राम झाल पहुंचे थे। ग्रामीणों ने बताया कि इसके पहले लगभग 5 साल पहले सीएम गांव के दौरे पर आए थे। तब और अब की स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ है। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम नहीं होने के कारण शनिवार सुबह ही गांव के स्कूल ग्राउंड में आनन-फानन में हेलीपेड बनाया गया। तब जाकर ग्रामीणों को सीएम के आने की भनक लगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY