सीएम रावत का एक और स्टिंग आया सामने

0
168

Harish Rawat meets Sonia Gandhi
देहरादून : उत्तराखंड में विधानसभा चुनावों से ठीक पहले विधायक की खरीद-फरोख्त से जुड़ा मुख्यमंत्री हरीश रावत का एक स्टिंग सामने आने के बाद कांग्रेस ने उसका प्रसार-प्रसारण रोकने की मांग करते हुए निवार्चन आयोग को पत्र लिखा है। वही  कल शाम सामने आये नये स्टिंग ऑपरेशन के बाद भाजपा ने मुख्यमंत्री पर करारा हमला बोलते हुए तत्काल उनके इस्तीफे की मांग की है। पाटीर् ने सीबीआई से अनुरोध किया है कि विधायकों की खरीद—फरोख्त के मामले में मुख्यमंत्री के खिलाफ पहले चल रही जांच में वह इस स्टिंग ऑपरेशन को भी शामिल करे।

स्टिंग ऑपरेशन के प्रसारण पर तत्काल रोक लगाने की मांग

मुख्यमंत्री रावत के मुख्य प्रवक्ता सुरेन्द्र कुमार ने यहां बताया कि उन्होंने मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखकर मतदान से महज 48 घंटे पहले एक निजी टेलीविजन चैनल तथा भाजपा द्वारा रची गयी साजिश के तहत चुनाव प्रभावित करने के लिये दिखाये जा रहे इस स्टिंग ऑपरेशन के प्रसारण पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है।

इससे पहले विधायकों के बगावत के समय सामने आया था स्टिंग ऑपरेशन

पिछले साल मार्च में नौ कांग्रेस विधायकों की बगावत से पैदा हुए राजनीतिक संकट के बीच भी रावत का एक स्टिंग ऑपरेशन सामने आया था जिसमें उन्हें बागियों को अपने पक्ष में करने के लिये कथित तौर पर रिश्वत की पेशकश करते दिखाया गया था। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट ने यहां जारी एक बयान में कहा कि भंडारी को तोड़ने के लिए सात करोड़ रूपये की कथित डील का खुलासा होने से भाजपा द्वारा पहले से इस संबंध में व्यक्त की जा रही आशंका सत्य सिद्घ हो गई है।

उन्होंने दावा किया कि राज्य विधानसभा में भाजपा के विधायकों की संख्या कम करने के लिए मुख्यमंत्री रावत ने भंडारी से सात करोड़ रूपए की डील की और उन्हें इस्तीफा देने से पहले एक करोड़ एपये दिये गये। उन्होंने कहा कि इसके बाद भंडारी को दो करोड़ एपये और दिए गए। भटट ने इसे एक बहुत गम्भीर मामला बताते हुए कहा, मुख्यमंत्री को अपने पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं रह गया है और इसलिये उन्हें तत्काल अपने इस्तीफा देना चाहिये।

रिपोर्ट – मोहम्मद शादाब

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY