सीएमओ ने किया सीएचसी फखरपुर का औचक निरीक्षण

0
63


बहराइच (ब्यूरो)-
मुख्य चिकित्साधिकारी एके पाण्डेय द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फखरपुर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि उपस्थिति पंजिका पर चिकित्सक व कर्मियों द्वारा साधारणतः बडे़ अच्छरों में हस्ताक्षर किया जा रहा है। इस पर उन्हांेने चिकित्सक व कर्मियों पूर्ण हस्ताक्षर करने के निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान प्रसव कक्ष में इमरजेन्सी दवा मैग्नीशियम सल्फेट तथा मेयरजीन इन्जेक्शन नहीं पाया गया तथा प्रसव पंजिका के सभी कालम नहीं भरे जा रहे हैं। इस पर उन्होेंने नर्स नीता चैहान एवं स्टाफ नर्स को फटकार लगाया।

फार्मासिस्ट एचपी शुक्ला द्वारा ड्रग डिस्ट्रीब्यूशन पंजीका कम्पलीट न भरे जाने पर उन्होंने निर्देश दिया कि ड्रग डिस्ट्रीब्यूशन पंजीका कम्पलीट करना सुनिश्चित करें। चिकित्सकों द्वारा मरीजों के बीएचटी नहीं भरे जा रहे हैं तथा चिकित्सकों के हस्ताक्षर भी नहीं है। कोल्डचेन प्वाइन्ट का रखरखाव व सभी उपकरण क्रियाशील दशा में पाये जाने पर संतोष व्यक्त किया। निरीक्षण के दैरान वार्ड मंे प्रसव के लिए भर्ती सविता पत्नी सुखनन्दन ग्राम शहबापुर पट्टी का एमसीपी कार्ड देखने से ज्ञात हुआ कि एएनएम श्रीमती पूर्णिमा श्रीवास्तव द्वारा प्रसव पूर्व सभी चार जांचें नहीं करायी गयी हैं, इसपर सीएमओ श्री पाण्डेय ने अधीक्षक से सम्बन्धित एएनएम का स्पष्टीकरण मांगने का निर्देश दिया तथा अनुपस्थित डा. समीर आनन्द का एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश दिया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फखरपुर द्वारा टीकाकरण के 22 सत्र आयोजित किये गये। श्रीमती विनीता पत्नी तिलकराम गर्भवती महिला की जांच में पाया गया कि इनके हिमोग्लोबीन 05 ग्राम मात्र है। यह उच्च खतरे वाली श्रेणी में हैं। सीएमओ ने अधीक्षक को निर्देश दिया कि श्रीमती विनीता का निरन्तर फालोअप कर इनका संस्थागत प्रसव कराना सुनिश्चित करें। निरीक्षण के दौरान जिला कार्यक्रम प्रबन्धक डा. आरबी यादव मौजूद रहे।


रिपोर्ट- राकेश मौर्या

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY