राहगीरों की मुसीबत बना संकलन केंद्र

0
90

रायबरेली। जनपद की सीमा से सटी बाराबंकी जनपद की बलरामपुर चीनी मिल का एक संचय केंद्र शिवगढ़ विकास खण्ड के पोखरा गांव में स्थित है। यहां दूर दराज से ट्रैक्टरों से भरकर आने वाले गन्ने के चलते सड़के जीर्ण-शीर्ण हो गयी हैं। इन सड़कों से उड़ने वाली धूल राहगीरों की आँखों की रोशनी छीनने का काम कर रही है।
बताते चले कि हैदरगढ़ क्षेत्र के पूर्व विधायक स्व0 विधायक सुरेंद्र नाथ अवस्थी ने क्षेत्र विकास केा लेकर तत्कालीन मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह से मिल स्थापना के साथ ही पोखरा ग्राम में यह संकलन केंद्र बनवाया था। जबकि मात्र यहां से दस किमी दूर स्थित हैदरगढ़ चीनी मिल की स्थापना कराई थी। उस मिल में जनपद के कृषकों से गन्ना खरीद की जाती रही है। जिससे चीनी मिल चलने पर हर समय धूल उड़ा करती है। जो सड़क पर आने जाने पर राहगीरों के नेत्रों में घुस जाती है। कई बार ऐसी स्थिति में राहगीर दुर्घटना का शिकार भी हुये है।
रिपोर्ट – राजेश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here