नगर निगम को सौंपी जा सकती हैं नौ कॉलोनियां

0
57
प्रतीकात्मक

गोरखपुर(ब्यूरों)- शहर में जीडीए की ओर से विकसित नौ अावासीय ओर व्यावसायिक कालोनियो को नगर निगम को सौपे जाने का एेजेन्डा २१ अप्रैल को होने वाली बोर्ड मिटिंग मे रखा जायेगा| अगर इसे मंजूरी मिल गई तो कालोनी में नगर निगम को सफाई करानी होगी अब तक सफाई की जिम्मेदारी जीडीए की रही है|

जीडीए की विकसित आवासीय और व्यावसायिक कांलोनियों में करीब दस हजार लोग रहते है| इन सबको हाउस टैक्स नही देना पड़ता है लेकिन हस्तातरण के बाद टैक्स देना होगा इसे वसूलने की जिम्मेदारी नगर निगम की होगी| मुख्य अभियंता संदय कुमार सिंह ने बताया कि पहले दो कालोनीयां हस्तातरित की गई थी लेकिन नौ का मामला फंसा है| अब इनके हस्तानतपण का मामला बोर्ड में ले जाया जा रहा है| बोर्ड की मुहर लगते ही कालोनियों की देख-रेख नगर निगम के जिम्मे हो जायेगी| ऐसा हुआ तो कालोनियों की सफाई का काम नगर निगम को करना होगा|

ओवरब्रिज निर्माण पर मुहर संभव-

बोर्ड मिटिंग मे ट्रासपोर्टनगर से रूस्तमपुर तक ओवरब्रिज बनाने के प्रस्ताव पर मुहर लग सकती है| इसके निर्माण पर सात करोड़ चालीस लाख रूपये खर्च होगे, हालांकि निर्माण लागत बढ़ाने की उम्मीद जताई जा रही है|

आईबी का होगा अपना कार्यालय-

गृह मंत्रालय के जीडीए से इंटेलीजेंस ब्यूरो(आईबी)के कार्यालय के लिए जमीन की मांग की है यह मामला भी बोर्ड की मिटिंग मे ले जाया जा रहा है अभी आईबी का कार्यालय किराये के बिल्डिंग मे चल रहा है|

रिपोर्ट-जयप्रकाश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY