धर्म पर राजनीति शरद यादव को पड़ी महँगी, कांवड़ियों को बताया था बेरोजगारी का प्रतीक…

0
7350

sharad-yadav
जनता दल यूनाइटेड के प्रमुख नेता शरद यादव ने शिव भक्तों पर विवादित बयान देकर मुश्किल में पड़ गए हैं, शरद यादव ने स्वान मॉस में लाखों की संख्या में कांवड़ यात्रा कर रहे श्रद्धालुओं पर टिप्पणी करते हुए कहा कि सड़कों पर बढ़ते कांवड़ियों की संख्या बेरोजगारी का उत्कृष्ट उदाहरण है |

शरद यादव यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा अगर देश में रोजगार की इतनी कमी नहीं होती तो कांवड़ियों की इतनी बड़ी तादाद सड़कों पर नहीं उतरती, बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि लोकसभा चुनावों के समय बीजेपी नौकरियाँ देने का वादा करके सत्ता में आई थी लेकिन बीजेपी अपना वादा पूरा नहीं कर पायी है |

JDU के नेता के इस बयान से शिव भक्तों के साथ ही धर्मगुरु भी नाराज हैं, सुमेरू पीठाधीश्वर स्वामी नरेंद्र नंद, अखाड़ा परिषद के नरेंद्र गिरि और आत्मानंद ब्रह्मचारी, हिंदू महासभा के स्वामी चक्रपाणी ने इस बयान पर विरोध दर्ज करवाया है, उत्तर भारत में सावन के महीने में शिव भक्त जलाभिषेक के लिए निकलते हैं. सालों से ये परंपरा चली आ रही है, इनमें हर तबके के भक्त होते हैं. ऐसे में भक्तों को बेरोजगार बता कर शरद यादव बुरी तरह से घिर गए हैं |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY