दलबदलुओं से परेशान आम आदमी

0
54

चकलवंशी/उन्नाव(ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश के जनपद में बीते विधानसभा के चुनाव में भाजपा को प्रचण्ड बहुमत मिलने के बाद से पार्टी अति उत्साह से लबरेज होकर पिछली सरकारों के रास्तों पर चल पड़ी है| ऐसा लोगो को थोड़ा थोड़ा महसूस होने लगा है। जिस रास्ते का सत्तासीन पार्टी अनुसरण करने पर तुली है। वह रास्ते पतन की ओर ले जाते हैं। इसमें जरा भी सन्देह की गुन्जाइश नहीं है।

इसका ताजा उदाहरण बीते विधान सभा के चुनाव है। दूसरे दलों से मजा मार कर आये दलबदलुवों के द्वारा भगवा अगौछा बांध कर पार्टी की अगली कतार में खड़े होना और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के द्वारा उनका तहेदिल से समर्थन करने को लेकर भाजपा का जमीनी कार्यकर्ता अपने को ठगा महसूस तो कर ही रहा है। साथ ही दुखी भी है। क्योंकि पिछली सरकार में पार्टी का मूल कार्यकर्ता इन्ही दलबदलुवों से ही पीड़ित था। वहीं दलबदलू सरकार बदलने के बाद अब फिर दल बदल कर आगे वाली कतार में खड़े नजर आ रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि चाहे जिस दल की सरकार आये कुछ भी बदलने वाला नहीं है क्योंकि मेन चीज पैसा है। अगर आप के पास पैसा है तो सब माफ है चाहे जितनी पार्टियां बदलो। अगर कहीं कोई गरीब किसी दल का झंडा लगा लेता है तो उसके खिलाफ नाना प्रकार के षडयंत्र रचे जाते हैं। लेकिन पैसे वाले के लिए सब माफ।

पिछली सरकार के शासन काल में जिले के पैसे वाले तमाम कैबिनेट मन्त्रियों के साथ यहां तक मुख्यमंत्री जी के साथ फोटो खिंचवा कर सोशल मीडिया में खूब प्रचार प्रसार करा रहे थे। अब जब भाजपा की सरकार बनी तो अब भाजपा के मन्त्रियों के साथ फोटो खिंचवा कर प्रचार प्रसार करने मे व्यस्त हैं। यही काम अगर कोई गरीब व्यक्ति करता तो शायद उसकी ऐसी की तैसी हो जाती ऐसा भी नहीं है कि यह बात कोई जानता नही है। इस बात को जिले का बच्चा बच्चा जानता है। अगर भाजपा ने अपना रवैया न बदला तो आने वाले दिनों में प्रदेश की बात तो बता नहीं सकता लेकिन उन्नाव जनपद में पार्टी को भारी नुकसान हो सकता है।

रिपोर्ट- जितेन्द्र गौड़ 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here