बीमा क्लेम देने से इनकार करने पर माँगा मुआवजा

0
126


हाजीपुर (वैशाली ब्यूरो)-
उपभोक्ता ने एक मामले में अपने वाहन का बीमा करवाया था| बीमा अवधि में ही उसका वाहन दुर्घटना का शिकार हो गया | उपभोक्ता ने इसकी जानकारी बीमा कंपनी को जब दी तो बीमा कंपनी के सर्वेयर ने वाहन का निरीक्षण किया| सर्विस सेंटर ने उसका खर्च करीब एक लाख रुपये बताया| कई बार सूचना देने पर भी बीमा कंपनी ने जब भुगतान नहीं किया तो उपभोक्ता ने अपनी जेब से भुगतान किया, बाद में बीमा कंपनी ने महज 55,378 रुपये का चेक दिया | उपभोक्ता ने इस के बाद बीमा कंपनी के खिलाफ़ जिला उपभोक्ता फोरम में शिकायत दर्ज कराते हुए 18 फ़ीसदी ब्याज के साथ बकाया राशि और एक लाख रुपये मुआवजे की मांग की |

उपभोक्ता ने अपने दलील में कहा की बीमा कंपनी के सर्वेयरने वाहन का निरीक्षण करने के बाद ही उनसे सर्विस सेंटर में वाहन ठिक कराने को कहा था| उपभोक्ता ने कहा की कई बार बीमा कंपनी को सूचित करने के बाद भी उसे राशि का भुगतान नही किया गया और अंत में उसने खुद के खर्च से वाहन लेना पड़ा| उपभोक्ता ने यह भी कहा कि जब कंपनी ने चेक दिया तो वह भी करीब खर्चा की गयी राशि का आधा हिस्सा था| कंपनी ने अपने दलील में सेवा में कमी मानने से इनकार कर दिया और कहा की सर्वेयर की रिपोर्ट के आधार पर जितनी राशि खर्च होनी चाहियए थी उसका भुगतान किया गया था| जिला फोरम ने जब बीमा कंपनी से सर्वेयर की रिपोर्ट दिखाने को कहा तो कंपनी ऐसा नहीं कर पाई| आखिरकार अपने फ़ैसले में जिला फोरम ने बीमा कंपनी को कहा कि वह उपभोक्ता को 10,000 रुपये मुआवजे का भुगतान करे|

उपभोक्ता ने जिला फोरम द्वारा मुआवजा बेहद कम देने के फ़ैसले के खिलाफ़ राज्य आयोग में अपील की जो वहाँ खारिज हो गयी| उपभोक्ता ने इसके बाद राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग में रिविजन याचिका दायर की !कंपनी ने यहां भी अपनी गलती मानने से इनकार कर दिया| कंपनी ने अपने दलील में कहा की जब उसने उपभोक्ता चेक दिया तब उसने स्वीकार कर लिया| जब की विरोध के रुप में वह उसे भी वापस कर सकता था| राष्ट्रीय आयोग ने बीमा कंपनी से सर्वेयर का रिपोर्ट देने को कहा लेकिन कंपनी ऐसा नही कर पाया| मामले पर गौर करते हुए राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग ने बीमा कंपनी को कहा की वह उपभोक्ता को क्लेम के बाकी करीब 47 हजार रुपये 9 फिसदी ब्याज के साथ दे|

रिपोर्ट- नसीम रब्बानी

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here