ब्लाक प्रमुख से की गयी ग्राम प्रधान व ग्राम सचिव की मिलीभगत से हो रहे भ्रष्टाचार की शिकायत

0
68

बीघापुर/उन्नाव (ब्यूरो) विकासखंड की ग्राम सभाओं में क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने ग्राम प्रधान व ग्राम सचिव की मिलीभगत से मनरेगा योजना के अंतर्गत भ्रष्टाचार किए जाने का आरोप लगाते हुए ब्लाक प्रमुख सुनीता सिंह को शिकायती पत्र दिए हैं । विकास खंड के ग्राम सभा सथनी बाला खेड़ा में वर्ष 2009-10 में गांव के गद्दर तालाब को 800000 रुपए की लागत से मनरेगा योजना के अंतर्गत कच्चा पक्का कार्य करा कर मॉडल तालाब के रुप में विकसित किया गया था। इसी तालाब को पुनः वित्तीय वर्ष 2016 -17 में खुदाई का कार्य दिखाकर लगभग 318000 रुपए का प्रधान व सेक्रेटरी ने मिलकर बंदरबांट किया है। क्षेत्र पंचायत सदस्य पप्पू ने ब्लॉक प्रमुख को एक शिकायती पत्र लिखते हुए आरोप लगाया है कि वित्तीय वर्ष में 15 से 20 हजार रु0 ही इस तालाब की सफाई में खर्च किए गए हैं । उनका यह भी कहना है कि जब इस संबंध में ग्राम पंचायत सचिव से पूछा तो उन्होंने कहा कि सिल्ट सफाई की गई है।

शिकायतकर्ता का कहना है कि मैं गांव में ही रहता हूं अगर सिल्ट सफाई हुई है तो सिल्ट कहां गई, जो 318000 रुपए खर्च कर निकाली गई तो प्रधान व ग्राम सचिव ने मुझे धमकाते हुए कहा कि तुम्हें जहां शिकायत करनी हो करो जाकर इसी तरह कुंवर गड्ढा तालाब की खुदाई दिखा कर भी धन का बंदरबांट किया गया है राज्य वित्त से खड़ंजे की मरम्मत दिखा कर भी धन का दुरुपयोग किया गया है। वही विकासखंड की ग्राम सभा गिरजा नगर में सुमित कुमार निर्मल ने शिकायत की है कि गांव के शिव कुमार पुत्र लल्लन ने खड़ंजे को उखाड़कर मार्ग अवरुद्ध कर दिया है तथा अपना शौचालय का गड्ढा भी सड़क पर बना दिया है साथ ही अपने घर की गंदी नाली का पानी भी सड़क पर बहा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ अर्जुन कुमार पुत्र रामप्रसाद निर्मल ने अपना चबूतरा भी बढ़ाकर बना लिया है जिससे आने जाने में बेहद कठिनाइयां हो रही हैं।

रिपोर्ट – मनोज सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here