खनिज रॉयल्टी के बढ़ते रेट व लूट को लेकर मुख्यमंत्री को भेजी शिकायत

कबरई/महोबा(ब्यूरो)- कबरई पत्थर नगरी मे मचा लूटने का सिलसिला साथ ही राजस्व के नाम पर भी लूट का सिलसिला जारी है, इसी को देखते हुऐ समाज सेवी ने मुख्यमंत्री को भेजी शिकायत।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक कबरई पत्थर नगरी में खनिज के नाम पर हर कोई लूट माचने को आमदा है फिर चाहे वह आम आदमी हो या फिर अधिकारी। बता दे कि पत्थर नगरी मे रोजाना पांच से छ: हजार ट्रको का आवागमन है जो कबरई से गिट्टी लेकर जाते है उन्ही ट्रको मे खनिज रोवाल्टी भी दी जाती, जिसका आज के समय का मूल्य 400 रुपऐ घन मीटर तक हो गया है| इस बढते रेट का किसी को भी अन्दाजा नहीं है कि आखिरकार क्यों रेट मे इतनी ज्यादा बढ़ोतरी हुई तो इसका कारण भी बताते है।

एक शिकायतकर्ता ने मुख्य रुप से इस गुन्डे गिरी रेट का खुलासा करते हुऐ मुख्यमंत्री जी को शिकायत पत्र भेजा है, जिसमे शिकायत कर्ता का साफ कहना है कि विधान सभा चुनाव मे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह जी ने कहा था कि सरकार बनते ही खनिज सम्पदा मे गुन्डा टैक्स बिल्कुल समाप्त कर दिया जाऐगा लेकिन महोबा जनपद खनन मे उल्टा हो गया यहाँ पर गुन्डा टैक्स तो जोर शोर से सर चढकर बोल रहा है, जिसका उदाहरण रुप मे खनिज रोवाल्टी का सरकारी रेट एक समय मे 166 रुटऐ घन मी. था, फिर सपा सरकार मे यह गुन्डा टैक्स को सम्मिलित करते हुऐ बढकर 300 रुपऐ घन मी. कर दिया गया था लेकिन अब भाजपा सरकार बनते ही सबके कान काटते हुऐ 400 रुपऐ घन मी. बिकने को आमदा है|

शिकायतकर्ता के अनुसार इस पूरे खेल मे मुख्य भूमिका मे महोबा जनपद मे तैनात सर्वेयर अशोक मौर्या अदा कर रहे है| बताया गया जो खनिज रोवाल्टी के ऊपर का रुपया जो 240 घन मी. है उसका बटवारा खनिज विभाग जिलाधिकारी एंव प्रभारी खनिज मंत्री तक बटता है तथा खनिज मन्त्री के एक रिश्तेदार जो महोबा जनपद मे रहते है, वह वसूली करते है और प्रशासनिक सहयोग अशोक मौर्या करता है| मन्त्री जी के इशारे पर खनिज ठेकेदारो का एक सिन्डिकेट बना है, जिसको ही खनिज विभाग से रोवाल्टी जारी की जाती है और वही उसको बेचते है और पैसा इकठ्ठा कर मन्त्री जी के रिश्तेदार के यहाँ पहुंचाया जाता है, जो इस पूरे खेल के कोषाध्यक्ष है|

अशोक मौर्या बसपा व सपा सरकार मे भी महोबा मे तैनात थे और भाजपा सरकार मे भी महोबा मे तैनात है जो इस खेल के पूरे खिलाड़ी है महोबा जनपद मे प्रतिदिन हजारों घन मी. की रोवाल्टी बेची जाती है और करोडो रुपया प्रतिदिन गुन्डा टैक्स के नाम पर वसूला जाता है इसलिये इसकी जाँच करा सत्यता का पता कराऐ ताकि इस खनिज मे मची लूट को रोका जा सके।

रिपोर्ट- प्रदीप मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here