पारदर्शिता के साथ पूरा करें किसानों के कार्य

0
78

रायबरेली(ब्युरो)– जनपद में कृषकों के जीवन स्तर में और अधिक सुधार लाने के लिए जनपद के कृषि विभाग, सिंचाई विभाग, लघु सिंचाई विभाग, विद्युत विभाग, के0वी0के0, उद्यान विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए लाभार्थियों को पारदार्शिता के साथ उनकी योजनाओं से लाभान्वित कराया जाये। निगम द्वारा गठित कृषि सम्बन्धित उत्पादक कम्पनियों को उनके सदस्यों द्वारा उत्पादित कृषि उपज के सरकारी क्रय केन्द्र की स्थापना हेतु तत्काल आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। अपूर्ण एवं पूर्ण सोडिक हाटों की गुणवत्ता निरीक्षण करने एवं कार्य पूरा न करने के लिए जिम्मेदार व्यक्ति को स्पष्टीकरण दिये जाये। ड्रेन सफाई का कार्य समय पर किया जाये तभी किसानों को लाभ मिल सकें।

सरकार द्वारा महिला स्यवं सहायता के लिए भेजी गयी सहायता धनराशि (सब्सीडी) का लाभ पूरा-पूरा महिला समूहों को मिलना चाहिए। इसमें से किसी भी प्रकार की कटौती करने का किसी को हक नही है। अगर कोई बीच में लाभ लेता है तो उसके विरूद्ध एफ0आई0आर0 दर्ज कर उसे जेल भेजा जायेगा। महिला समूह अपने क्षेत्र में शौचालयों के निर्माण के लिए गा्रमवासियों को प्रत्साहित करें इसके लिए सरकार द्वारा सुनिश्चित मदद उपलब्ध करायी जाये।

जिलाधिकारी अनुज कुमार झा की अध्यक्षता में उ0प्र0 भूमि सुधार निगम द्वारा संचालित यू0पी0 सोडिक लैंण्ड रिक्लेमेशन तृतीय परियोजना के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यो की समीक्षा बैठक शनिवार को बचत भवन में सम्पन्न हुई। उन्होंने ने ऊसर सुधार में चयनित लाभार्थियों, महिला स्वयं सहायता समूह के सदस्यों एवं जैविक कृषि कार्यक्रम के लाभार्थियों से विभाग के द्वारा चलाये जा रहे परियोजना से सम्बन्धित लाभ के बारे में सीधा संवाद स्थापित कर जानकारी प्राप्त किया। जिलाधिकारी ने आय जनित गतिविधि के रूप में मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने एवं इससे होने वाले लाभ के बारे में विशेष जोर दिया।

रिपोर्ट- राजेश यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here