हैलमेट की उपयोगिता के सन्दर्भ में भाषण प्रतियोगिता का आयोजन

0
112

मैनपुरी(ब्यूरो)- राज्य सरकार के सौजन्य से हैलमेट की उपयोगिता के सन्दर्भ में चलाए जा रहे जागरूकता अभियान के अन्तर्गत शहर की संस्था सुदिती ग्लोबल एकेडमी, मैनपुरी में भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। ज्ञातव्य है कि इस समय राज्य सरकार एवं दैनिक जागरण द्वारा संयुक्त रूप से हैलमेट के प्रयोग हेतु जनसाधारण को जागरूक करने हेतु अभियान जलाया जा रहा है, जिसमें सुदिती ग्लोबल एकेडमी के विद्यार्थी बढ़ चढ़ कर प्रतिभाग कर रहे हैं|

इसी क्रम में आज विद्यालय के नवीं एवं दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों के मध्य एक भाषण प्रतियोगिता का आयोजन कराया गया, जिसमें विद्यार्थियों अभिनय गुप्ता, अनुभव शाक्य, मोहित प्रताप, आकाश राजपूत, नवीन यादव, अमन, हिमांशुरंजन एवं युवराज ने हैलमेट की उपयोगिता के सन्दर्भ में अपने विचार प्रस्तुत करते हुए कहा कि हम यात्रा के समय जिन बातों को अनदेखा कर देते हैं, वही हमारे जीवन के लिए बहुत आवश्यक होती हैं जैसे कि हम यात्रा के दौरान कभी-कभी हेलमेट को लगाना उचित नहीं समझते और अपनी जान जोखिम में डाल कर यात्रा करते हैं, लेकिन यात्रा के समय हैलमेट हमारी सुरक्षा हेतु अति आवश्यक है। हमें दुपहिया वाहन चलाते समय हैलमेट का प्रयोग सदैव करना चाहिए।

प्रतियोगिता में नवीं कक्षा के मेहर प्रकाश वर्मा ने प्रथम, आलोक शाक्य ने द्वितीय एवं अनुराग अग्निहोत्री ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन करते हुए विद्यालय के प्रशासनिक प्रधानाचार्य डॉ. राम मोहन ने कहा कि विश्व में सबसे ज्यादा सड़क दुर्घटना में होने वाली मृत्यु का कारण प्रमुख रुप से यातायात संबंधी नियमों की जानकारी का अभाव है। जिसके परिणाम स्वरुप व्यक्ति का जीवन अचानक ही संकट में पड़ जाता है और दुर्घटना हो जाती है तथा हँसता खेलता मानव अनायास ही काल का ग्रास बन जाता है। इसके बचाव के लिये हमें सदैव सावधानी पूर्वक यातायात से संबंधित समस्त नियमों का पालन करना चाहिए तथा दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

विद्यालय की प्रशासनिक प्रधानाचार्य डॉ. कुसुम मोहन ने कहा कि हमें पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी से यातायात के नियमों का पालन करना चाहिए क्यांेंकि जीवन को व्यवस्थित तरीके से जीने के लिए जिस तरह से अपने नियम एवं सिद्धान्तों को पालन करना जरुरी है| उसी तरह यात्रा के दौरान इन नियमों का पालन करना बेहद आवश्यक है। किसी भी वाहन को चलाते समय कभी भी मोबाइल फोन पर तथा अपने पास बैठे हुये व्यक्ति से भी बात नहीं करनी चाहिए। उस समय हमें अपना ध्यान सिर्फ अपनी यात्रा को सुरक्षित तरीके से संपन्न करने पर लगाना चाहिए और चैकन्ने रह कर वाहन का संचालन करना चाहिए। इस अवसर पर विद्यालय के प्रबन्ध निदेशक लव मोहन, उपप्रधानाचार्य जय शंकर तिवारी, कैम्पस कोआॅर्डीनेटर अल्का दुबे सहित समस्त अध्यापक-अध्यापिकाएं उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- दीपक मिश्रा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here