अहिर सम्मेलन में उठा बर्खास्त सेना के जवान तेज बहादुर का मुद्दा

0
76

धनपतगंज/सुलतानपुर(ब्यूरो)- अहीर समाज ने आजादी की लड़ाई से लेकर सामाजिक जीवन के परिवेश में महत्वपूर्ण योगदान के बाद भी आज तक उपेछित है। विभिन्न राजनैतिक दलों ने यादव समाज को कई दलों में बांटकर सत्ता हथियाने में इस्तेमाल तो किया। परंतु सत्ता के बाद उन्हें हासिये पर रखकर हमारी ताकत कमजोर की।

उक्त बातें अखिल भारतीय यदुवंशी महासभा द्वारा धनपतगंज के मझवारा गांव में आयोजित यादव सम्मेलन के अधिवेशन में राष्ट्रीय अध्यक्ष बृजेन्द्र यादव ने बतौर मुख्यातिथि कहा। उन्होंने आगे कहा कि अहिर समाज ने हमेशा असुरी ताकतों का मुकाबला खुलकर किया है यही नही आजादी की लड़ाई में जहाँ अहीर समाज के लोगो ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। वही आजादी के बाद समाज के युवाओ  ने भारतीय सेना में भर्ती होकर समय समय पर अपने प्राण न्योछावर किये। उन्होंने सरकार से सेना  में अलग अहिर रेजिमेंट बनाने के साथ ही अहीर समाज को एकजुट रह कर अपने ताकत का एहसास दिलाने की अपील की। अखिल भारतीय यदुवंसी महासभा की महिला प्रदेश अध्यक्ष व जिला पंचायत सदस्य कमला यादव ने कहा कि अहीर समाज भगवान श्रीकृष्ण के वंसज है जो अन्याय व अत्याचार के विरुद्ध हमेशा लड़ाई लड़ता रहा है। समाज एक जुट होकर ही अपने अधिकार पा सकता है।

कार्यक्रम को विशिष्ट अतिथि बिहार के आर जे डी के विधायक ददन यादव उर्फ पहलवान, प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि शिव कुमार सिंह, पूर्व मंत्री राम रतन यादव, बी एस फ से बर्खास्त सिपाही तेज बहादुर यादव आदि लोगो ने संबोधित किया। इस मौके पर बृजेन्द्र यादव, जय प्रताप यादव, जिला पंचायत सदस्य रमा संकर यादव, विजय यादव  डब्लू मिश्रा आदि लोग मौजूद रहे।

जेल से छूटने के बाद के कमला यादव ने अपने विरोधियों को कराया राजनैतिक ताकत का एहसास अजीत यादव हत्याकांड में नामजद होने के बाद जिला पंचायत सदस्य कमला यादव के राजनैतिक अस्तित्व पर छाए संकट के बाद मझवारा गांव में आयोजित यादव सम्मेलन में चिल चिलाती धूप में पांच हजार से अधिक भीड़ की मौजूदगी ने कमला यादव के राजनैतिक कद को संजीवनी मिलती नजर आयी। इस दौरान विपक्षियों पर ताबड़तोड़ वार किए गए।
बीएसफ का बर्खास्त सिपाही तेज बहादुर यादव की मौजूदगी बनी चर्चा का बिषय अखिल भारतीय यदुवंशी महा सभा मे सिपाही तेज बहादुर यादव की मौजूदगी चर्चा का विषय रही।

वक्ताओं ने अपने भाषण में अन्याय के विरुद्ध आवाज उठाने वाले उक्त सिपाही की सराहना की। बताते चले कि 19अप्रैल 2017 को बीएसफ जवान तेजबहादुर द्वारा सैनिको खराब भोजन दिए जाने का आरोप लगाया था जिसके कारण उस पर कार्यवाही हुई थी।

रिपोर्ट- संतोष यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY