मुश्किल में कांग्रेस, एक के बाद एक कई दिग्गज नेता कर रहे है पार्टी से किनारा

0
15309

दिल्ली- देश की सबसे बड़ी और सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस की हालात दिन ब दिन बद से बदतर होती जा रही है | एक के बाद एक राज्यों में कांग्रेस के चुनाव हारने का सिलसिला एक तरफ जहां थमने का नाम नहीं ले रहा है वही दूसरी तरफ कांग्रेस के अपने पुराने दिग्गज नेता भी कांग्रेस के हाई कमान के रवैये से नाराजगी और निराशा के चलते पार्टी छोड़ चलते बनते हुए दिखायी दे रहे है |

त्रिपुरा के पूर्व कांग्रेसी मुख्यमंत्री समीर रंजन और उनके छः अन्य असंतुष्ट विधायक छोड़ेंगे कांग्रेस का साथ –
सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि त्रिपुरा कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री समीर रंजन और उनके साथ 6 अन्य कांग्रेसी विधायक भी कांग्रेस के हाई कमान से ख़ासा नाराज चल रहे है और वे कान्ग्रेस का साथ छोड़ जल्द ही ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम सकते है | त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री समीर रंजन के साथ पार्टी छोड़ने वाले अन्य 6 विधायकों में समीर रंजन के विधायक पुत्र सुदीप राय बर्मन भी तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम रहे है |

खबर है कि कांग्रेस के दिग्गज नेता और त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री समीर रंजन रमजान महीने के समाप्त होने के बाद कांग्रेस पार्टी को छोड़ तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम सकते है | बता दें कि फिलहाल यह सभी विधायक कांग्रेस से निलंबित चल रहे है और पार्टी हाईकमान से ख़ासा नाराज भी है | बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल राय ने त्रिपुरा में कांग्रेस से निलंबित इन विधायकों के साथ शुक्रवार को मीटिंग की थी | मीटिंग के बाद ही मुकुल राय ने यह एलान किया था कि 2018 में होने वाले प्रदेश विधानसभा चुनावों में पार्टी सभी सीटों पर अपने उम्मीदवारों को उतारेगी |

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी भी छोड़ेंगे कांग्रेस का साथ –
छतीसगढ़ में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे और छतीसगढ़ पूर्व कांग्रेसी मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कांग्रेस पार्टी को छोड़ एक नई पार्टी के गठन का निर्णय ले लिया है | उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान इस बात का एलान किया | अजीत जोगी ने कांग्रेस के ऊपर हमला बोलते हुए कहा है कि अब यह वह कांग्रेस नहीं रही जो गांधी और नेहरु की विचारधारा के आधार पर चलती थी | उन्होंने कांग्रेस के प्रति अपने गुस्से को जाहिर करते हुए कहा है कि भैंस के आगे बीन बजाने का कोई फायदा नहीं होता है |

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने यह भी कहा है कि मैंने पार्टी छोड़ने का पूरा मन बना लिया है और मै अब अपनी खुद की एक पार्टी बनाऊंगा | बता दें कि कुछ महीने पहले ही अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी को कांग्रेस से निष्काषित कर दिया गया था वे पार्टी से विधायक भी थे | तभी से इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि शायद अजीत जोगी अलग नई पार्टी बना सकते है | अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी भी कांग्रेस के ही टिकट पर छतीसगढ़ में विधायक है | अजीत जोगी का दावा है कि कांग्रेस के प्रदेश में कुल 38 विधायक है जिनमें से 15 विधायक उनके संपर्क में है और पार्टी बनने के बाद वे सभी मेरी पार्टी में सम्मिलित होने के लिए आतुर है |

अजित जोगी ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि मेरी नई पार्टी का नाम, झंडा, नारा आदि सब कुछ 6 जनवरी को हमारे समर्थकों की मीटिंग में निश्चित कर लिया जाएगा |

पूरा हो सकता है पीएम मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना –
ज्ञात हो कि पीएम मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस मुक्त भारत का नारा दिया था | पीएम मोदी ने उस समय अपने चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस पर एक भ्रस्टाचारी पार्टी का आरोप लगाते हुए कहा था कि परिवार वाद की राजनीति करने वालों से मै इस देश को मुक्ति दिलाकर रहूँगा | आज जिस तरह से 2014 से कांग्रेस एक के बाद एक प्रदेश में अपनी साख को खोती जा रही है उससे ऐसा प्रतीत होता है कि मानो पीएम मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना बिलकुल सच हो सकता है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY