कांग्रेस ने प्रत्याशी को आखिरी मौके पर दिया धोखा

0
139

Representative
Representative

देहरादून : कांग्रेस ने धनोल्टी सीट से प्रत्याशी मनमोहन सिंह मल्ल को आखरी मौके पर धोका दे दिया है। पार्टी ने सीट से प्रत्याशी को हटाने का मन बना लिया है। पार्टी ने संकट के साथी रहे पीडीएफ (प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक फ्रंट) के मंत्री प्रीतम सिंह पंवार से वफादारी निभाई। दो दिन पहले धनोल्टी सीट पर निर्दलीय प्रीतम सिंह पंवार के खिलाफ मनमोहन मल्ल को उम्मीदवार बनाने वाली कांग्रेस ने शुक्रवार को अपने कदम पीछे खींचते हुए पंवार के खिलाफ प्रत्याशी खड़ा नहीं करने का फैसला लिया है।

इस फैसले से अजीबोगरीब हालत पैदा हो गए हैं। पार्टी के सिंबल पर नामांकन कर चुके मल्ल यदि खुद चुनाव मैदान से हटे तो ही कांग्रेस और पंवार को राहत मिल सकेगी। उधर, मल्ल ने इस फैसले पर आश्चर्य जताया। उ

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए बीती 24 जनवरी को मनमोहन मल्ल को उम्मीदवार बनाकर पार्टी सिंबल दे चुकी कांग्रेस ने दो दिन बाद ही उन्हें चुनाव मैदान से बाहर कर दिया। मल्ल का टिकट कटने की वजह काबीना मंत्री प्रीतम सिंह पंवार का पार्टी से समर्थन मांगना बताया जा रहा है। बीते मार्च माह में कांग्रेस में बगावत के बाद संकट में आई हरीश रावत सरकार के साथ पीडीएफ मुस्तैदी से खड़ा रहा।

काबीना मंत्रियों प्रीतम पंवार और दिनेश धनै ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने से इन्कार कर दिया। इसके बाद पार्टी ने उक्त दोनों सीटों पर प्रत्याशी उतार दिए। हालांकि, पंवार के खिलाफ पार्टी ने अपेक्षाकृत मजबूत प्रत्याशी के रूप में मल्ल को चुनाव मैदान में उतारा। मल्ल मसूरी नगरपालिका अध्यक्ष भी हैं और इस सीट पर पार्टी के टिकट पर पिछला चुनाव भी लड़ चुके हैं।न्होंने कहा कि वह कांग्रेस के सिंबल पर ही चुनाव लड़ेंगे। इस मामले में मुख्यमंत्री से वार्ता की जाएगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि इस मसले को सुलझा लिया जाएगा।

मल्ल के मैदान में उतरने से चिंतित पंवार ने कांग्रेस के समर्थन के लिए मुख्यमंत्री हरीश रावत से वार्ता की। इसके बाद कांग्रेस हाईकमान ने प्रीतम पंवार को चुनाव में समर्थन देने के लिए शुक्रवार को पत्र जारी कर दिया। मल्ल ने कांग्रेस के सिंबल पर शुक्रवार को ही नामांकन कराया। सिंबल पर नामांकन के बाद अब ये उन पर निर्भर करेगा कि वह हाईकमान के आदेश को मानें या नहीं। इससे पार्टी के सामने भी नई उलझन खड़ी हो गई। इस संबंध में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि पंवार ने पार्टी से समर्थन मांगा है।

वहीँ मल्ल का कहना है कि मेरे पास पार्टी सिंबल है और मैं उसी पर चुनाव लडूंगा, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किस आधार पर उन्हें बैठाने का दावा कर रहे हैं।

रिपोर्ट – शादाब

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here