यूपी चुनाव-2017, सपा और भाजपा पर जमकर बरसे नासिबुद्दीन सिद्दीकी, कांग्रेस को बताया डूबता ज़हाज़

0
119

Nasimuddin Siddiqui

कन्नौज- बसपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं नेता विरोधी दल नसीबुद्दीन सिद्दीकी ने आज यहां केन्द्र और प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर हमला बोला। दोनों ही सरकारों पर झूठ बोलने और वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए उन्होने सर्व समाज के लोगों से बसपा को समर्थन देने की अपील की। उन्होने भाजपा व सपा के साथ ही कांग्रेस को भी नही छोड़ा। कांग्रेस को तो उन्होने डूबता जहाज तक बता दिया।

आपको बता दें कि, बसपा के सदर विधानसभा प्रत्याशी अनुराग सिंह जाटव के समर्थन में शहर मुख्यालय पर आयोजित चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय महासचिव नासिबुद्दीन सिद्दीकी ने प्रधानमंत्री को रोने वाला प्रधानमंत्री बताते हुए कहा कि जब से नरेन्द्र मोदी पीएम बने है। अब तक आठ बार वह जनता के सामने रोने का नाटक कर चुके है। जनता का ध्यान भटकाने के लिए वह कभी सीना पीटने लगते है तो कभी तालियां भी बजाने लगते है। उन्होने कहा कि भाजपा को चुनाव के वक्त ही राम मंदिर याद आता है। अभी तो केन्द्र में भाजपा की सरकार है, इससे पहले भी केन्द्र और प्रदेश में इन सरकारें रही है। तब वह राम मंदिर क्यों नही बना पाये।

उन्होने सुप्रीम कोर्ट और निर्वाचन आयोग के आदेशों का हवाला देते हुए अमित शाह पर मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की। यही नही बसपा राष्ट्रीय महासचिव ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के उस बयान पर भी कटाक्ष किया जिसमे उन्होने आरक्षण समाप्त किए जाने की वकालत की थी। उन्होने कहा कि आरक्षण भीख नही बल्कि हमारा हक है। जिसे संविधान निर्माता बाबा साहेब ने हमको ससम्मान दिया था। काम बोलता है के स्लोगन पर अखिलेश की चुटकी लेते हुए सिद्दीकी ने कहा कि प्रदेष में 500 से ज्यादा दंगे कराकर सरकार ने खुलेआम कत्लेआम करवाया। अखलाक और जिया उल हक जैसे लोगों का बेदर्दी से कत्ल करवाकर मथुरा, बरेली, फैजाबाद, मेरठ और मुज्जफरनगर में दंगे करवाये।

उन्होने कहा कि खुद पूर्व सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव कह चुके है कि अखिलेश मुसलमान विरोधी है, यह बात सही भी है कि जो अपने बाप का न हुआ वह किसी और का क्या होगा। उन्होने कहा कि अखिलेश कहते है कि उनका काम बोलता है जब 2012 के चुनाव में जनता के सामने गए थे तो उन्होने बिना किसी गठबंधन के और विपक्ष में रहकर 224 सीटे जीती, लेकिन अब उन्होने पांच साल काम किया तो फिर इस सहारे की क्या जरूरत पड़ गयी। कांग्रेस डूबता हुआ जहाज है। जिसमे सवार होने वाला भी डूबता है।
रिपोर्ट- सुरजीत सिंह
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY