बिजली समस्या को लेकर एमडी से मिले कांग्रेस विधायक

0
33

 

रायबरेली (ब्यूरो)- सरकारी घोषणा के मुताबिक रायबरेली जिले में हो रही कम विद्युत आपूर्ति और अन्धाधुन्ध कटौती तथा लो वोल्टेज की समस्या के सम्बन्ध में कांग्रेस विधायकों का एक प्रतिनिधि मण्डल पावर कार्पोरेशन के एमडी विशाल चौहान से मिला।

यह जानकारी कांग्रेस विधायक राकेश सिंह ने यहां पत्रकारों को दी। उन्होंने बताया कि कांग्रेस विधायकों के इस प्रतिनिधि मण्डल की अगुवाई पार्टी के नेता विधानमण्डल दल अजय सिंह लल्लू ने की। उनके साथ कांग्रेस विधायक सुहैल अख्तर, नरेश सैनी, मसूद अहमद और हरचन्दपुर विधान सभा क्षेत्र के विधायक राकेश सिंह थे। क्षेत्रीय कांग्रेस विधायक हरचन्दपुर ने कार्पोरेशन के एमडी को बताया कि किस तरह पूरा जिला और विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र बिजली की अन्धाधुन्ध कटौती और लो वोल्टेज की समस्या से परेशान है। एमडी ने शिकायत को गम्भीरता से सुना और दो दिन के अन्दर रायबरेली की बिजली समस्या का निराकरण करा देने का भरोसा दिया।

एमडी ने कहा कि हरचन्दपुर क्षेत्र के पोरई और राहवां के बन्द चल रहे विद्युत उपकेन्द्र को चालू करा दिया जायेगा। इसके अलावा खीरों क्षेत्र की विद्युत समस्या के निराकरण के लिए उसे मौरावा से जोड़ने के लिए 25 किमी. लम्बी विद्युत लाइन मांग के मुताबिक बनवा दी जायेगी। एमडी को बताया गया कि हरचन्दपुर क्षेत्र वैसे भी डार्क क्षेत्र होने के कारण यहां पीने के पानी का गम्भीर संकट बना हुआ है। इतना ही नहीं पुरवा ब्रान्च से जुड़ी होने के कारण इस क्षेत्र की नहरों में करीब ढाई दशक से पानी नहीं बहता। क्षेत्रीय किसान तबाह और बर्बाद हैं। किसानों को संकट से बचाने के लिए यदि विद्युत व्यवस्था में सुधार कर दिया जाये तो किसानों और ग्रामीणों के आंशू पोछे जा सकते हैं। पावर कार्पोरेशन के एमडी ने हरचन्दपुर के कांग्रेस विधायक राकेश सिंह की ओर से किसानों एवं ग्रामीणों के हित में विद्युत समस्या उठाने की सराहना करते हुए दो दिन के अन्दर समस्याओं का निराकरण करा देने का प्रतिनिधि मण्डल को भरोसा दिया।

उधर हरचन्दपुर क्षेत्र की नहरों में पानी चलाने का मामला जब क्षेत्रीय विधायक ने सदन में उठाया तो सिंचाई मंत्री ने समस्या को संज्ञान में लेकर कांग्रेस विधायक राकेश सिंह से अपेक्षा किया कि वे नहरों में पानी न चलने की समस्या के सम्बन्ध में विस्तार से लिखकर उन्हें दे दें। ताकि इस दिशा में कारगर पहल सुनिश्चित कराई जा सके। इसी आधार पर पावर कार्पोरेशन के एमडी से मिलने के बाद कांग्रेस विधायकों का प्रतिनिधि मण्डल नहरों में पानी चलाने को लेकर सिंचाई मंत्री से मिला और उन्हें विस्तार से पुरवा ब्रान्च की नहरों की ढाई दशक की बदहाली और पानी चलाने के नाम पर यूपीए-2 सरकार द्वारा बसपा के शासनकाल में भेजी गयी 110 करोड़ की विशेष परियोजना को तत्कालीन सरकार के मंत्री ने खर्च तो कर डाला, लेकिन नहर में एक बूंद पानी नहीं बहा। क्षेत्रीय कांग्रेस विधायक ने मौजूदा सिंचाई मंत्री से क्षेत्रीय किसानों के हित में ढाई दशक से सूखी पड़ी क्षेत्र की नहरों में पानी चलाने की मांग की और नहरों की इस दुर्दशा के दोषी सिंचाई अभियन्ताओं को दण्डित करने की भी मांग किया।

रिपोर्ट- अनुज मौर्य

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY