संविधान प्रदत्त अधिकारों के लिए करना होगा शिक्षित होकर संघर्ष

0
51

रसड़ा/बलिया (ब्यूरो)- संविधान दिवस की पूर्व संध्या पर डा०इन्दु चौधरी कहा बाबा साहब ने हमे संविधान में जो हमें अधिकार दिये हैं उसे शत प्रतिशत लागू कराने के लिये हमें संगठित व शिक्षित होकर संघर्ष का रास्ता अख्तियार करना होगा। बाबा साहब दलितों, पिछड़ों और महिलाओं के मसीहा थे जो सदा पूजनीय बने रहेंगे। रविवार को संविधान दिवस की पूर्व संध्या पर रसड़ा ब्लाक के सुल्तानपुर गांव स्थित जूनियर हाईस्कूल पूर्व माध्यमिक के प्रांगण में आयोजित संविधान बचाआे महासम्मेलन समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए बीएचयू की प्रो. डा. इंदू चौधरी ने उपर्युक्त बातें कहीं।

उन्होंने कहा कि महापुरूषों का जीवन लोगों के उत्थान के लिए हमेशा से रहा। डा. अंबेडकर ने देश की व्यवस्था के संचालन हेतु संविधान के निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। यह देश अनंत काल के लिए उनका ऋणी रहेगा। उन्होंने महिलाआें को आडंबरवाद से दूर रहने की हिदायत देते हुए कहा कि बाबा साहब के पद चिंहों पर चलकर ही देश का कल्याण संभव हो सकेगा। डा. भीमराव अंबेडकर हमेशा समाज के पीड़ित, उपेक्षित और दबे कुचले लोगों को हमेशा बराबरी का दर्जा दिलाने के लिये संघर्ष किया।

उन्होंने संविधान के माध्यम से गरीब समाज को अधिकार और सम्मान दिया है। इंदू राय चौधरी ने कहा कि बाबा भीमराव अंबेडकर का सिद्धांत एवं व्यक्तित्तव आज भी प्रासंगिक है उनके सिद्धांतों को आत्मसात करना वक्त की मांग है। समारोह के दौरान कार्यक्रम के संयोजक ग्राम प्रधान मुन्ना, अजीत कुमार, विनोद कुमार, रवींद्र कुमार, दिलीप कुमार, अंगद कुमार, मुकेश कुमार, सिद्धनाथ राम आदि अध्यक्षत अजीत कुमार व संचालन राजेश कुमार ने किया।

रिपोर्ट- पिन्टू सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here