मोदी लहर भी नहीं तोड़ पायी विजय मिश्र का तिलस्म, विजय मिश्र लगातार चौथी बार बने विधायक

0
107

भदोही। पूरे प्रदेश के साथ जनपद में भी प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की लहर जमकर चली, लेकिन यह लहर भी विजय मिश्र के तिलिस्म को नहीं तोड़ पायी। विजय मिश्र अपनी बादशाहत बरकरार रखते हुए ज्ञानपुर विधान सीट से लगातार चौथी बार विधायक चुने गये।

विधायक विजय मिश्र विधान सभा चुनाव 2002, 2007, 2012 में सपा के चुनाव चिन्ह पर चुनाव जीते थे। विधान सभा चुनाव 2017 में सपा ने उनका टिकट काटकर पूर्व सांसद रामरति बिंद को मैदान में उतारा था। टिकट न मिलने पर विधायक विजय मिश्र नवगठित निषाद पार्टी से चुनाव मैदान में कूदे और फतेह हासिल किया। वहीं सपा का बुरा हाल हुआ। रामरति चौथे स्थान पर रहे। विजय मिश्र 64677 मत हासिल कर निर्वाचित हुए। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी भाजपा के महेंद्र बिंद को 19997 मतों से पराजित किया।

बसपा प्रत्याशी राजेश कुमार यादव 44157 मत पाकर तीसरे स्थान पर रहे, तो सपा प्रत्याशी रामति बिंद को 38334 मतों पर ही संतोष करना पड़ा। इस चुनाव में सभी विपक्षी दलों ने लगातार जीत हासिल कर रहेविजय मिश्र को हराने केलिए पूरा जोर लगा दिया था। उनके खिलाफ जमकर व्यूह रचना की गई थी। यहां तक कि जिस सपा से वे लगातार तीन बार विधायक रहे, उसी सपा ने उनका टिकट चुनाव के ऐन मौके पर काट दिया था। फिर भी उन्होंने भारी जीत हासिल कर अपनी बादशाहत को कायम रखने में सफलता हासिल की।

रिपोर्ट- राजमणि पाण्ड़ेय
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY