बंद पड़ा है सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण कार्य

0
71

फतेहपुर चौरासी/उन्नाव(ब्यूरो)- फतेहपुर चौरासी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का दर्जा मिल चुका है किंतु वर्तमान में इस के भवन का निर्माण कार्य बंद पड़ा है । जिससे यहां की स्वास्थ्य सेवाएं पंगु होकर रह गई हैं । स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी अलग-अलग तीन चार स्थानों पर जीर्ण सीर्ण भवनों में बैठकर यहां आने वाले रोगियों का इलाज कर रहे हैं।

बताते चलें कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र फतेहपुर चौरासी को बांगरमऊ क्षेत्र के अधिवक्ता फारुख अहमद की जनहित याचिका पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाए जाने की स्वीकृति दी गई है। इसके बाद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भवन के मलबे को नीलाम कर हटाने की जिम्मेदारी ठेकेदारों को जनवरी माह में सौंप दी गई थी और उक्त मलवा एक माह में हटाने के निर्देश दिए गए थे। इसी के बाद 11 फरवरी को भूमि पूजन कर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भवन का निर्माण कार्य शुरू करा दिया गया था किंतु इधर लगभग एक पखवारा पूर्व एक राजनीतिक दल के कार्यकर्ता ने भवन में घटिया निर्माण सामग्री लगाने का आरोप लगाकर निर्माण कार्य को बंद करा दिया था। तब से यह निर्माण कार्य बंद पड़ा है और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की सेवाएं मरीजों को अलग-अलग स्थानों पर बैठकर स्वास्थ्य कर्मचारी उपलब्ध करा रहे हैं। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का कार्यालय पूर्व के प्रसव कक्ष भवन में संचालित किया जा रहा है। डॉट्स की दवाएं कूड़ा कचरा निस्तारण भवन में बैठ कर दी जा रही हैं । ओपीडी का संचालन जल निगम के भवन के बरामदे में बैठकर चिकित्सक कर रहे हैं । दवाओं का भंडारण निष्प्रयोज्य घोषित किए जा चुके आवासीय भवनों में किया गया है और प्रसव कक्ष का भी संचालन निष्प्रयोज्य आवासी भवन में किया जा रहा है । अलग-अलग तीन चार स्थानों से संचालित किए जा रहे स्वास्थ्य केंद्र से यहां आने वाले मरीजों में भ्रम की स्थिति बन जाती है और मरीज इधर-उधर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भटकते रहते हैं ।

बताते हैं कि स्वास्थ्य सेवाएं एक स्थान पर संचालित करने के लिए पूर्व में नगर के बरात शाला भवन को उपयोग में लाने के लिए उच्च अधिकारियों द्वारा निर्देश दिए गए थे। किंतु उक्त भवन को नगर प्रशासन ने देने से मना कर दिया था। जिससे स्वास्थ्य कर्मचारियों की मजबूरी इधर उधर बैठ कर स्वास्थ्य सेवाएं संचालित करना है । स्वास्थ्य केंद्र का सामान निकट वर्ती स्वास्थ्य केंद्रों में शिफ्ट किया गया है । इधर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भवन का निर्माण ठप हो जाने से ऐसा नहीं लगता कि उक्त भवन जल्दी ही बनकर तैयार हो जाएगा और क्षेत्र के मरीजों को एक ही छत के नीचे सभी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध होने लगेंगी। क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता गौरी पांडे, प्रधान सत्य प्रकाश मिश्रा, मूलई, राम किशोर तिवारी आदि लोगों ने स्वास्थ्य विभाग से भवन निर्माण में तेजी लाकर क्षेत्र के मरीजों को शीघ्र ही पूर्व की भांति एक ही छत के नीचे स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने की मांग की है। इस संबंध में प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. प्रेम चन्द ने बताया कि स्थिति से उच्च अधिकारी अवगत हैं और उनके स्तर से शीघ्र भवन निर्माण के प्रयास भी किये जा रहे हैं ।

रिपोर्ट- रघुुनाथ प्रशाद

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY