शव दफनाने को लेकर दो समुदायों में विवाद

0
201
प्रतीकात्मक फोटो


उन्नाव(ब्यूरो)-
हसनगंज थाना क्षेत्र के मोहनी खेड़ा निवासी दंपत्ति की बीते दिवस एक सड़क दुर्घटना में मौत हो जाने से परिजनो द्वारा शव को कब्रिस्तान में न दफनाकर गाँव के अन्य व्यक्ति के खेत में दफन कर एक नया कब्रिस्तान बंनाने की कोशिश का दूसरे समुदाय ने विरोध किया है| दोनों पक्षों में तनातनी का माहौल बना हुआ है दुसरे पक्ष ने सूचना कोतवाली में दी है|

मालूम हो की 19/3/17 को मोहनी खेड़ा निवासी अबरार पुत्र मक़सूद उम्र 35 वर्ष अपनी पत्नी जलिसुं के साथ मोटर साईकिल से अजगैन थाना क्षेत्र के कतरा वासीरत गंज अपनी ससुराल जा रहा था लेकिन नवई मकूर के बीच तेज रफ़्तार वैन ने टक्कर मार दी| जिससे दोनों की मौत हो गई थी| सोमवार को उन्हीं के शव को परिजनों द्वारा ग्राम सभा में स्थित दो कब्रिस्तानों में दफ़न न करके गांव के ही रामकुमार के खेत में दफ़न करने की कोशिश कर रहे थी| इसकी जानकारी जब खेत मालिक को हुई तो उसने विरोध किया जिसपर प्रथम पक्ष अपनी बात पर अड़ा रहा, जिस पर गांव के ही पंडित हरीश महाराज प्रदेश उपाध्यक्ष भगवा रक्षा वाहिनी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य भाजपा ने आकर शव दफ़न करने से रोका और कहा की आपका कब्रिस्तान जब पहले से चिन्हित है तो यहां क्यू दफ़न कर रहे हो?

पंडित हरीश महाराज ने तत्काल प्रभाव से कोतवाल हसनगंज को मामले की सूचना दी| जिस पर कोतवाली पुलिस और राजस्व कर्मी मौके पर जाकर समझोता कराने की कोशिश करते रहे। कोतवाल हसनगंज प्रदीप श्रीवास्तव ने बताया की देर शाम को दोनों पक्षों में समझोउता कराकर ग्राम समाज की भूमि पर शव दफ़न करने की बात हुई है|

रिपोर्ट – राहुल राठौर

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here