पहली बार इन दो जिलों के कॉपियों की होगी डिजिटल जांच

0
117

exam room
पटना : बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इस वर्ष से इंटर की उत्तरपुस्तिकाओं का डिजिटल मूल्यांकन करने का निर्णय लिया है. हालांकि इस वर्ष डिजिटल सिस्टम से सिर्फ दो जिलों की कॉपियों की जांच होगी. इस संबंध में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने रविवार को बताया कि इंटर वार्षिक परीक्षा 2017 में पटना तथा वैशाली जिलों की उत्तरपुस्तिकाओं का डिजिटल मूल्यांकन किया जायेगा. इस प्रकार, समिति द्वारा वार्षिक परीक्षा में पहली बार इस वर्ष दो जिलों के उत्तरपुस्तिकाओं का डिजिटल मूल्यांकन होगा.

यहां परीक्षार्थियों की संख्या है अधिक 
आनंद किशोर ने बताया कि पटना और वैशाली जिले में परीक्षार्थियों की संख्या काफी अधिक है, इसलिए इन जिलों की कापियों के डिजिटल मूल्यांकन करने का निर्णय समिति द्वारा लिया गया है, बताते चलें, पिछले साल हुए इंटर टॉपर घोटाला के तार भी मुख्यतः इन्हीं दोनों जिलों से जुड़े हुए थे, वैशाली जिले के परीक्षा केंद्र से परीक्षा देने वाली रूबी रॉय फर्जी तरीके से इंटर में टॉप करायी गयी थी, वहीं पटना के ही राजेन्द्र नगर गवर्नमेंट हाई स्कूल में कापियों की जांच में गड़बड़ी का मामला सामने आया था |


ऐसे होती है डिजिटल तरीके से कॉपियों की जांच

डिजिटल मूल्यांकन के तहत उत्तरपुस्तिकाओं के बार कोडिंग के उपरांत कापियों की स्कैनिंग की जाती है, इसके बाद सर्वर के माध्यम से सम्बन्धित मूल्यांकन केंद्र पर कंप्यूटर पर शिक्षकों द्वारा कापियां जांची जाती है. इस सिस्टम से मार्क्स को जोड़ने समेत अन्य गलती नहीं होती है, वहीं फर्जीवाड़ा करने की भी गुंजाइश नहीं होती है, गौरतलब है कि समिति द्वारा उत्तरपुस्तिकाओं का डिजिटल मूल्यांकन सफलतापूर्वक कंपार्टमेंटल परीक्षा 2016 के दौरान किया जा चुका है, इस वर्ष वार्षिक परीक्षा के उपरांत डिजिटल मूल्यांकन पद्धति को आगे के वर्षों में वृहद रूप से लागू करने पर विचार समिति द्वारा किया जायेगा |

रिपोर्ट – आशुतोष कुमार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY