जेलर की मिली भगत से कैदियों को मिल रहा नशा और मोबाइल, बंदी रक्षकों के विरोध प्रदर्शन पर डीएम ने किया निरीक्षण

0
85

इटावा ब्यूरो इटावा जिला जेल में जेल अधीक्षक के जारी भृष्टाचार के कारनामो को लेकर जेल के पुलिस कर्मियों ने गत 22 मार्च को जेल परिसर में धरना प्रदर्शन किया था । जेल अधीक्षक भृष्टाचार में लिप्त है नारे बड़े जोर जोर से लगाने लगे । रात के समय में जेल परिसर में हो रही नारेबाजी सुनकर जेल अधीक्षक उमेश कुमार ने जेलर को धरना प्रदर्शन कर रहे जेल वार्डन व इन बंदी रक्षको को समझा.बुझा कर मामला रफा.दफा करने के लिए भेजा । लेकिन बंदी रक्षको से मिलने आये जेलर साहब ने नाराज़ बंदी रक्षको के पास मीडिया कर्मियों का जमावाडा देखाए तो वे वैरंग ही अपने आवास की तरफ जाने लगे । मीडिया कर्मियों ने उनसे धरना प्रदर्शन कर रहे जेल वार्डन और बंदी रक्षको के आरोपों के बारे में जानकारी चाहीए लेकिन जेलर साहब सब ठीक हैए कह कर अपने आवास की तरफ सरक लिए । धरना प्रदर्शन कर रहे जेल के वार्डन व ये सभी बंदी रक्षक बता रहे है कि जिला जेल में बंद शातिर अपराधियों को जेल अधीक्षक उमेश कुमार का खुला संरक्षण प्राप्त है । जेल के भीतर जेल अधीक्षक से सांठ.गाँठ कर जेल में बंद शातिर अपराधी शराब स्मैक, चरस का खुले आम सेवन कर रहे है । ज्यादातर शातिर अपराधी जेल के भीतर मोबाइल फोन तक का प्रयोग खुले आम धडल्ले से कर रहे है । धरना प्रदर्शन करने वाले इटावा जेल में तैनात यह बंदी रक्षक बता रहे है कि जेल अधीक्षक के भृष्टाचार का विरोध करने पर जेल अधीक्षक जेल में बंद अपने मुह लगे शातिर अपराधियों के द्वारा धमकियां दिलवा रहे है । ये बंदी रक्षक ये भी बता रहे है कि जेल अधीक्षक के मुह लगे जेल में बंद शातिर अपराधियों से उन्हें जान का खतरा है ।

इन आरोपों की जाँच करने के लिए इटावा के जिला जज डीएमए एसएसपी ने देर शाम जिला जेल में छापा मार दिया। करीब एक घंटे तक तीनो ही अधिकारियो ने जेल में तलाशी अभियान चलाया । बाद में जेल से बाहर आने के बाद डीएम शमीम अहमद खान ने मीडिया को बताया कि उन्हें जेल के अंदर सब कुछ ठीक ठाक मिला लेकिन उन्होंने जेल कर्मियों के द्वारा अपने ही जेल अधीक्षक पर भृष्टाचार के जो गंभीर आरोप लगाये हैए उसकी जांच के आदेश दे दिए गए है। यह जाँच सिटी मजिस्ट्रेट करेंगे |

रिपोर्ट – सुशील कुमार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY