जिन्दा जलाकर मारने वालों के खिलाफ कोर्ट हुई शख्त, नहीं दी ज़मानत, भेजा जेल

0
160
प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

सुल्तानपुर – आगजनी के मामले में तीन आरोपियों की तरफ से जिला एवं सत्र न्यायालय में अंतरिम जमानत अर्जी पेश की गई। जिस पर सुनवाई के पश्चात जिला न्यायाधीश नरेश कुमार बहल ने आरोपियों की अंतरिम जमानत अर्जी खारिज कर दी है।

बता दें कि यह मामला अमेठी कोतवाली क्षेत्र के रेमा गांव का है। जहां के रहनेवाले अरुण कुमार तिवारी ने 23 जनवरी 2007 की घटना बताते हुए मुकदमा दर्ज कराया। आरोप है कि राम बहाल पाठक, विनोद कुमार, राहुल कुमार व संतोष घटना की रात मोटरसाइकिल से आए और वादी को जान से मार डालने के नीयत से उसके घर में आग लगा दिया। इस दौरान चपेट में आया एक मवेशी भी झुलस गया एवं काफी संपत्ति भी जलकर राख हो गई।

इसी मामले में हाईकोर्ट के निर्देशन में आरोपी राम बहाल पाठक, विनोद कुमार व राहुल ने सोमवार को आत्मसमर्पण कर अंतरिम जमानत अर्जी जिला सत्र न्यायालय में पेश की जिस पर सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष ने जमानत पर रिहा करने की मांग की।वही जिला शासकीय अधिवक्ता शुकदेव यादव ने आरोपों को गंभीर बताते हुए जमानत पर विरोध जताया।ततपश्चात जिला न्यायाधीश ने आरोपियों की जमानत खारिज कर दी है।मूल जमानत पर सुनवाई के लिए आगामी 4 फरवरी की तिथि तय की गई है।
रिपोर्ट- दीपक मिश्र
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here