रिहा हुए पूर्व सपा मंत्री डॉ. मनोज पाण्डेय लेकिन अवैध असलहा रखने के मामले में आरोप भी हुआ तय

0
266

dr-manoj-kumar-pandey

सुलतानपुर (ब्यूरो)- पूर्व मंत्री व सपा विधायक मनोज पांडेय गुरूवार को अवैध असलहा बरामदगी के मामले में अदालत में पेश हुए। जिनकी अर्जी को स्वीकार करते हुए न्यायाधीश मनीष निगम ने उनके खिलाफ चल रहे गैरजमानतीय वारंट को सशर्त निरस्त कर उन्हें रिहा करने का आदेश दिया। जिसके उपरान्त उनके खिलाफ इस मामले में आरोप भी तय हुआ।

मामला जयसिंहपुर थानाक्षेत्र के बरौंसा चौराहे के पास का है। जहां पर करीब 22 साल पूर्व हुई घटना का जिक्र करते हुए तत्कालीन थानाध्यक्ष जगदीश प्रसाद भारती ने 11 सितम्बर 1994 को मुकदमा दर्ज कराया। आरोप है कि वाहन चेकिंग के दौरान मनोज पाण्डेय (मौजूदा विधायक ऊंचाहार-रायबरेली) को अवैध देशी रिवाल्वर व कई कारतूसों आदि के साथ गिरफ्तार किया गया।

इस मामले में मनोज पाण्डेय पहले ही जमानत करा चुके थे, लेकिन सात दिसम्बर 2012 को गैर हाजिर रहने व किसी प्रकार की अर्जी कोर्ट में न पड़ने के चलते उनके विरूद्ध गैर जमानतीय वारंट जारी कर दिया गया था। विधायक के मुताबिक तब से वह कोर्ट से जारी वारंट के विषय में जानकारी न होने के चलते गैरहाजिर चल रहे थे। इस मामले में सुनवाई के लिए आगामी 22 मार्च की तिथि तय की गई थी।

गुरूवार को पूर्व विज्ञान एवं प्रद्योगिकी मंत्री व सपा विधायक मनोज पाण्डेय अदालत में हाजिर हुए और उनकी तरफ से वारंट रिकॉल करने एवं उसी दिन आरोप तय करने के बाबत अर्जी दी गई। न्यायाधीश मनीष निगम ने उनकी अर्जी को स्वीकार करते हुए प्रतिपेशी पर स्वयं अथवा अधिवक्ता के माध्यम से हाजिर रहने के शर्त पर उन्हें रिहा करने का आदेश दिया। वहीं उनके खिलाफ आर्म्स एक्ट की धारा 25 में आरोप भी तय किया गया।
रिपोर्ट- दीपक मिश्र

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here