कोर्ट ने अलग-अलग मामलों मे कई आरोपियों की जमानत अर्जी की खारिज

0
308

court
सुलतानपुर:हत्या समेत अन्य गंभीर आरोपों में पांच आरोपियों की तरफ से अलग-अलग मामलों में जिला एवं सत्र न्यायालय में जमानत अर्जी पेश की गई। जिला न्यायाधीश नरेश कुमार बहल ने सभी आरोपियों की जमानत अर्जी को सुनवाई के पश्चात खारिज कर दिया है।

पहला मामला धम्मौर थानाक्षेत्र का है। जहां के रहने वाले तिलकराम मौर्या की गुमशुदगी के बाबत 14 अपै्रल 2015 को मुकदमा दर्ज कराया गया। जिसकी लाश बरामद हुई। इस मामले में हत्या की धारा बढ़ोत्तरी हुई। तफ्तीश के दौरान आरोपी अनोद उर्फ सूरज निवासी उसका थाना पीपरपुर का नाम प्रकाश में आया। जिसे जेल भेज दिया गया। इसी मामले में आरोपी की जमानत अर्जी को जिला एवं सत्र न्यायालय ने सुनवाई के पश्चात खारिज कर दिया।

दूसरा मामला गौरीगंज थानाक्षेत्र का है। जहां के रहने वाले अनिल मिश्रा ने बीते 28 अगस्त की घटना बताते हुए अपने भाई मनोज मिश्रा पर हुए जानलेवा हमले के बाबत विजय कुमार, रामधीरज, जगलाल व जगदीश समेत अन्य पर हत्या के प्रयास के बाबत मुकदमा दर्ज कराया। इसी मामले में आरोपी विजय विश्वकर्मा की तरफ से प्रस्तुत जमानत अर्जी को जिला एवं सत्र न्यायालय ने खारिज कर दिया है।

तीसरा मामला अखण्डनगर थानाक्षेत्र का है। जहां के रहने वाले हृदयनरायन सिंह ने बीते 14 जुलाई की घटना बताते हुए अपने बड़े भाई श्रीनरायन उर्फ़ आंधी सिंह की गैर इरादतन हत्या के बाबत गांव के ही दिनेश कुमार व गणेश कुमार सुतगण विश्राम पासी व उसके सहयोगी विशाल व सुरेश वर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। इसी मामले में सगे भाई दिनेश व गणेश कुमार निवासीगण पौधन रामपुर की तरफ से प्रस्तुत अर्जी पर सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष के तर्को पर जिला शासकीय अधिवक्ता शुकदेव यादव ने विरोध जताया। तत्पश्चात न्यायाधीश ने आरोपियों की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

चौथा मामला चांदा थानाक्षेत्र का है। जहां के रहने वाले प्रेम नरायन उपाध्याय ने बीते 15 जून की घटना बताते हुए अपने भतीजे अनिल कुमार पर हुए जानलेवा हमले के बाबत आरोपी मो. रवी आदि पर मुकदमा दर्ज कराया। इसी मामले में आरोपी मो. रवी निवासी रजवाड़े रामपुर थाना चांदा की तरफ से प्रस्तुत जमानत अर्जी को जिला एवं सत्र न्यायालय ने खारिज कर दिया है।

(2)सुल्तानपुर:-घर में घुसकर नगदी व जेवरातों की लूट के मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर बरामद असलहे के साथ एसीजेएम पंचम की अदालत में पेश किया गया। जिसकी रिमांड स्वीकृत कर प्रभारी न्यायाधीश अनिल कुमार सेठ ने उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजने का आदेश दिया है। मालूम हो कि कादीपुर कोतवाली क्षेत्र के पूनम सिंह पत्नी रणधीर सिंह ने बीते 6 जनवरी की रात में हुई घटना का जिक्र करते हुए 6 अज्ञात बदमाशों के खिलाफ जेवरातों की लूट, मारपीट करने एवं एक लाख की नकदी भी लूट ले जाने समेत अन्य आरोपों के संबंध में मुकदमा दर्ज कराया है। इसी मामले में प्रकाश में आये आरोपी मिश्रीलाल निवासी पश्चिम पट्टी थाना अहिरौला जिला आजमगढ़ को गिरफ्तार कर कोतवाल शिवमुनी यादव ने न्यायालय में पेश किया।

(3)सुल्तानपुर:-अवैध वसूली के मामले में गैर जमानतीय वारंट पर चल रहे आरोपी को गिरफ्तार कर एसीजेएम चतुर्थ मनीष निगम की अदालत में पेश किया गया।अदालत ने जिसे जेल भेजने का आदेश दिया है । मालूम हो कि कोतवाली नगर क्षेत्र स्थित करौंदिया टैक्सी स्टैण्ड पर 31 अक्टूबर 2000 में आरोपी रमाशंकर राम व मनोज राय निवासीगण कटावा थाना कुड़वार के खिलाफ तत्कालीन एसआई मुकुन्दलाल यादव ने जीप चालकों से अवैध वसूली के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया था। जो कि जमानत कराने के बाद काफी समय से गैरहाजिर चल रहा था। इसी मामले में अदालत से जारी गैर जमानतीय वारंट के क्रम में उसे गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया।

(4)सुलतानपुर:-नौकरी दिलाने के नाम पर झांसा देकर युवक से लाखों रूपये हड़पने के मामले में संस्था के डायरेक्टर व मैनेजर के खिलाफ लगे गंभीर आरोपों को प्रथम दृष्टया अदालत ने सही माना है।और एसीजेएम पंचम की अदालत ने दोनों को विचारण के लिए तलब किया है।

मामला कादीपुर कोतवाली क्षेत्र के स्थानीय कस्बे का है। जहां पर 10 फ रवरी 2014 को हुई घटना का जिक्र करते हुए परिवादी संजय वर्मा ने एसीजेएम पंचम की अदालत में अर्जी दी है। आरोप है कि कादीपुर कस्बे में सी फ़ेररर्स सिविंग सर्विसेज(गुड़गांव) के डायरेक्टर प्रशान्त कुमार व मैनेजर प्रतिभा ने मिलकर एक लाख रूपये लेकर प्रशिक्षण दिलाने के पश्चात नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया। जिनके झांसे में पड़कर संजय वर्मा ने उन्हें एक लाख रूपये दे भी दिए। दिखावे मात्र के लिए आरोपियों ने वर्ष 2014 में दो माह तक संजय वर्मा का जयपुर में प्रशिक्षण भी करवाया, लेकिन प्रशिक्षण के बाद भी कई महीनों तक उसे नौकरी नहीं दिलवाये तो संजय वर्मा ने नौकरी दिलवाने अथवा अपने पैसे वापस करने की बात कही तो आरोपियों ने उसे चुप बैठने की धमकी देते हुए जान से मारवा डालने की भी बात कही। संस्था के डायरेक्टर व मैनेजर के झांसे का शिकार हुए बेरोजगार युवक ने इस संबंध में थाने से लेकर एसपी कार्यालय तक के चक्कर काटे, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाई। जिसके पश्चात अदालत ने संजय वर्मा की अर्जी पर संज्ञान लेते हुए डायरेक्टर व मैनेजर को भादवि की धारा 406, 419, 420, 467, 468, 471 समेत अन्य धाराओं में विचारण के लिए तलब किया है। अदालत के आदेश पर उनके विरूद्ध पांच हजार कीमती वारंट जारी कर उन्हें आगामी 15 फरवरी के लिए तलब किया गया है।

(5)सुल्तानपुर:-मझवारा के अजीत हत्याकांड में जिला पंचायत सदस्य कमला देवी की जमानत अर्जी पर थाने से अभिलेख न आ पाने के चलते बुधवार को सुनवाई न हो सकी।जिला न्यायाधीश ने जमानत पर सुनवाई के लिए आगामी 31 जनवरी की तिथि नियत की है।

रिपोर्ट–संतोष कुमार यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here