कोर्ट ने कई आरोपियों की जमानत अर्जिया खारिज की

0
239

court

सुल्तानपुर – हत्या व दहेज हत्या के मामले में आरोपी ससुर समेत चार आरोपियों की तरफ से जमानत अर्जी जिला एवं सत्र न्यायालय में पेश की गई। जिस पर सुनवाई के पश्चात जिला न्यायाधीश नरेश कुमार बहल ने सभी आरोपियों को राहत न देते हुए जमानत अर्जी खारिज कर दी। पहला मामला बाजार शुकुल थाना क्षेत्र का है। जहां के रहने वाले अनन्त शंकर ने बीते 13 अक्टूबर की घटना बताते हुए मुकदमा दर्ज कराया।

आरोप है कि उनके चाचा करूणाशंकर घटना के दिन ग्राम पारा स्थित प्राइवेट विद्यालय में पढ़ाने जा रहे थे, जहां से छुट्टी होने के बाद शाम को गऊगंज बाजार में सब्जी लेने गए थे। जहां से वापस लौटे ही नहीं, खोजबीन करने पर भी उनका पता नहीं लगा। अगले दिन मरदानपुर के पास नाले में लाश पड़ी मिली।

आरोप के मुताबिक कई वर्षों पूर्व कृष्णदत्त की हत्या हुई थी, जिसमें उसके चाचा करूणाशंकर को उम्रकैद की सजा हुई थी और वह जमानत पर थे। इसी रंजिश को लेकर संजय, दुर्गादत्त, राजेन्द्र उर्फ लल्लन, योगेन्द्र आदि पर हत्या किये जाने की आशंका जताई।

जांच में भी हत्या के पीछे इन्हीं आरोपियों की भूमिका पाई गई। इसी मामले में आरोपी दुर्गादत्त, राजेन्द्र, योगेन्द्र आदि की तरफ से जिला एवं सत्र न्यायालय में जमानत अर्जी पेश की गई। जिस पर सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष के तर्कों पर जिला शासकीय अधिवक्ता शुकदेव यादव ने आपत्ति जाहिर की। तत्पश्चात जिला न्यायाधीश नरेश कुमार बहल ने तीनों आरोपियों की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

दूसरा मामला- कोतवाली देहात थानाक्षेत्र के अहिमाने-उतुरी का है। जहां के रहने वाले संतोष पुत्र मोहनलाल साहू के साथ वाहिनी केवला देवी ने अपनी पुत्री रेनू का विवाह सम्पन्न कराया था |

आरोप के मुताबिक पति व ससुर आयेदिन दहेज को लेकर प्रताड़ित करते थे। नतीजतन बीते 11 जून को मारपीटकर जला देने के बाबत दोनों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया। इसी मामले में आरोपी ससुर मोहनलाल साहू की तरफ से जिला एवं सत्र न्यायालय में जमानत अर्जी पेश की गई। जिस पर सुनवाई के पश्चात अदालत ने जमानत अर्जी खारिज कर दी।
रिपोर्ट-संतोष यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here