पत्नी और बेटी की हत्या करने वाले को कोर्ट ने सुनाई सबसे बड़ी सजा

0
119

मैनपुरी : मैनपुरी में कोर्ट ने पत्नी और बेटी के हत्यारे को फांसी की सजा सुनाई है, जिला न्यायालय के एडीजे प्रथम गुरूप्रीत सिंह बाबा ने ये सजा सुनाई है, शराब के लिए पैसे न देने पर पत्नी और बेटी की इस शख्स ने बेरहमी से पीट पीटकर हत्या कर दी थी।

थाना करहल इलाके के रूपपुर गांव में 29.06.14 को शराब पीने के आदी सोवरन सिंह ने अपनी पत्नी ममता और 12 साल की पुत्री सपना की पीट पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी थी, बताया जा रहा है कि सोवरन सिंह ने अपनी पत्नी से शराब पीने के लिए पैसे मांगे थे जब पत्नी ने पैसे नहीं दिये तो पहले उसने अपनी पत्नी ममता को पत्थरों से कुचलकर और सरिया से प्रहार करके मार डाला उसके बाद 12 साल की बेटी सपना को पहले पैर पकड़कर बुरी तरह जमीन पर पटका उसके बाद लात से गला दबाकर उसे मार डाला, आज जिला न्यायालय के एडीजे प्रथम गुरूप्रीत सिंह बाबा ने हत्यारे को फांसी की सजा सुनाई है।

सहायक शासकीय अधिवक्ता अनूप यादव ने बताया कि अभियुक्त सोवरन ने अपनी पत्नी और पुत्री की हत्या की, पत्नी का पत्थर से कुचलकर और सरिया मारकर के हत्या की, पुत्री को पैर पकड़कर जमीन पर पटक पटक मारा जब पटकने से नहीं मरी तो गले पर पैर रखकर हत्या की, इसमें फांसी की सजा सुनाई गयी है।

बता दें की इस मामले में घटना के बाद करहल थाने में धारा 302,201 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया था और पुलिस ने आरोपी को पकड़ कर जेल भेजा था पिछले तीन दिन से जिला न्यायालय के एडीजे प्रथम गुरूप्रीत सिंह बाबा की अदालत में इस मामले पर बहस भी चल रही थी जिसके बाद आज इस मामले पर फैसला सुनाते हुए जिला न्यायालय के एडीजे प्रथम गुरूप्रीत सिंह बाबा ने आरोपी को सजाये मौत का फरमान सुनाया है |

रिपोर्ट – प्रमोद कुमार सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here