लेखपाल व कानूनगो के खिलाफ अदालत ने लिया संज्ञान लिया

0
89

सुलतानपुर : फर्जीवाड़ा कर खतौनी में दूसरे का नाम दर्ज करने के मामले में एसीजेएम चतुर्थ की अदालत ने आरोपी लेखपाल व कानूनगो के खिलाफ संज्ञान लिया है। न्यायाधीश मनीष निगम ने अभियोगी की अर्जी पर दोनों आरोपियों को विचारण के लिए आगामी 25 मार्च को तलब किया है।

मामला गोसाईगंज थानाक्षेत्र के सोनारा गांव का है। जहां के रहने वाले अभयराज सुत रामनरेश के मुताबिक ग्राम न्योढ़िया परगना बरौंसा स्थित गाटा संख्या 192 का वह भू-स्वामी है। जिसकी खतौनी लेने के लिए वह 24 फ रवरी 2016 को जयसिंहपुर तहसील गया तो उसे पता चला कि उसकी खतौनी पर उसके बजाय अन्य व्यक्तियों का नाम गलत ढंग से दर्ज कर दिया गया है। इस संबंध में वह अपने संबंधित लेखपाल राजेन्द्र वर्मा से मिला तो लेखपाल ने अपना पीछा छुड़ाते हुए कानूनगो राम सुमेर वर्मा से मिलने की बात कही। जब अभयराज कानूनगो के पास गया तो कानूनगो ने उससे लेखपाल को अपने पास बुलाने की बात कही। जब दोनों आमने-सामने हुए तो दर्ज किए गए गलत नाम के बाबत अभयराज ने जानकारी मांगी तो दोनों जिम्मेदार उसे मारने-पीटने लगे और वहां से चले जाने की धमकी दी। इस प्रकरण की शिकायत थानाध्यक्ष से लेकर एसपी तक हुई, लेकिन किसी ने कार्रवाई की जहमत नहीं उठाई। प्रकरण अदालत पहुंचा, जिस पर सुनवाई के दौरान अभियोगी एवं गवाहों का बयान दर्ज हुआ, जिसके आधार पर उपलब्ध साक्ष्यों को पर्याप्त मानते हुए न्यायाधीश मनीष निगम ने आरोपी लेखपाल राजेन्द्र प्रसाद वर्मा एवं कानूनगो को प्रथम दृष्टया फर्जीवाड़े का आरोपी मानते हुए विचारण के लिए तलब किया है। प्रकरण में सुनवाई के लिए आगामी 25 मार्च की तिथि तय की गई है।

रिपोर्ट–संतोष कुमार यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY