कोटवारों ने वेतन शरकारी दर्जा को लेकर कलेक्टर के नाम सौपा ज्ञापन

0
103

राजनान्दगाव/छत्तीसगढ़(रा.ब्यूरो)- कलेक्टर कार्यालय के सामने सम्भागीय कोटवार, पटेल, संघ के धरणा प्रदर्शन के कार्यक्रम में पहुंचे संघ के प्रदेश अध्यक्ष प्रेम किशोर बाघ,अनिल श्रीवास्तव, राकेश साहू, में प्रमुख रूप से डोंगरगढ नगर पालिका के अध्यक्ष तरुण हथेल को संघ के लोगो ने बुलाया था इस कार्यक्रम में 2 माँगो पर सरकार से रखी गई अपनी माँग 1शासकीय कर्मचारिय का दर्जा दिया जाए और2 समान वेतन दिया जाए|

कोटवार, पटेल लोगो को इस कार्यक्रम में सभी वक्ताओ ने खरी,खोटी सुनाई प्रदेस सरकार को तरुण हथेल ने अपने उदबोधन मे कहा मै केवल 2 बात करना चाहता हु सरकार सीधे से कोटवार पटेलों की माँग मान जाये नही तो 2018 के विधानसभा सभा चुनाव में ईनका विरोध पूरे प्रदेश में वर्तमान सरकार के खिलाफ होगा क्यो की सुप्रीम कोर्ट हाल ही में हर मजदूर को समान वेतन उनके कार्य को देखकर देने की बात की है|

मै तो दूसरी बात ये बताना चाहता हु की सविधान भाग 4 अनुच्छेद 39 राज्य नीति निदेशक में बहुत स्प्ष्ट लिखा है हर वर्ग को जो जैसा कार्य करेगा उसको वैसा वेतन मिलेगा आज पटेल को 3 रु प्रतिदिन महीना 90 रु साल में 1000 रु दिया जाता है कोटवार को 2250 रु मानदेय दिया जाता है प्रश्न यह है देश आजादी के 70 वर्ष बाद भी इतना सोषन गाँवों की सामाजिक, प्रसासन की प्रमुख कड़ी है औऱ कान खोलकर यह सरकार सुन ले, चाहे आँगनबाड़ी, मितानिन, रसोइया, प्रेरक, जिन लोगो भी सरकार अपने कार्य मे लगाई हुई है|

उन सबको समान वेतन दे नही तो संवेधानिक लड़ाई के लिए तैयार रहे हम पीछे हटने वाले नही है न्यायालय का भी दरवाजा खटखटाएंगे बस बहुत हुआ ऐसी व्यवस्था को जड़ से उखाड़ के फेकना है जनता और शासकीय कर्मचारी अर्ध कुशल कर्मचारी के विषय में 1 बात कहना चाहता हु सरकार की फुट डालो राज करो कि नीति का उपयोग पूरे प्रदेश में चला रही है|

इसको समझना होगा तरुण ने कहा आम जनता युवाओं से अपील करता हु इस सामाजिक न्याय आंदोलन में बढ़ चढ़ कर सविधान, न्यायपालिका में रहकर अपने अधिकार के लिए लड़े इस कार्यक्रम में हजारो की संख्या में कोटवार संघ के कर्मचारी मौजूद रहे और अपना विरोघ जताते हुऐ कलेक्टर को एक ज्ञापन सौपा गया ।

रिपोर्ट-महेन्द्रं शर्मा/हरदीप छाबड़ा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY