लाचार पुलिस और त्राहि-त्राहि करती जनता, यही है प्रतापगढ़ की वर्तमान स्थिति


प्रतापगढ़ (ब्यूरो) उत्तर प्रदेश की राजधानी में जनपद प्रतापगढ़ का इतिहास अपराध में इलाहाबाद मंडल में सबसे आगे समूचे जनपद में हत्या लूट डकैती बलात्कार, छेड़खानी, किसी को गोली मार देना यह सब आम बात हो गई है, अभी हाल ही में कोतवाली मानधाता के सिपाही मोहन प्रसाद को अपराधियों ने दिनदहाड़े गोली मार दिया उनका इलाज स्वरूपरानी इलाहाबाद में चल रहा है |

वही कल दिनांक 28 जून 17 को बाबूलाल सरोज निवासी ग्राम पंच महुआ कोतवाली बाघराय निमंत्रण खाकर वापस घर लौट रहे थे, रास्ते में घात लगाए बदमाशों ने गोली मारकर बाबूलाल सरोज कोटेदार को मौत के घाट उतार दिया, इतना ही नहीं सूत्र बताते हैं लगभग एक दर्जन गोली मारी है तो, वहीं कोतवाली बाघराय के अंतर्गत बदमाशों ने चकवड ग्राम सभा में एक परिवार को निशाना बनाया | कोतवाली बाघराय के चकवड़ गांव में बदमाशों ने परिवार के स्वामी को बंधक बनाकर जम कर लूटपाट की डकैती डाली तथा परिवार के मुखिया समेत सभी लोगों को बुरी तरह मारपीट कर लहूलुहान कर दिया इतना ही नहीं इस घटना में लगभग लाखों रुपए का माल पार कर दिया |

इस घटना से चकवढ गांव समेत पास पड़ोस के गांव में भयंकर आक्रोश व्याप्त है | बेचारी प्रतापगढ़ पुलिस लाचार दिख रही है वही जनपद प्रतापगढ़ में हो रहे अपराध से पुलिस विभाग तो परेशान है ही इससे ज्यादा प्रतापगढ़ जनपद की ग्रामीणों से लेकर शहर तक की जनता घटनाओं से त्राहि-त्राहि कर रही है अब देखना यह है कि प्रतापगढ़ जनपद में कानून का राज चलेगा या फिर अपराधियों का राज चलेगा ?

रिपोर्ट – अवनीश कुमार मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here