सियासी दलों के दफ्तरों से गायब होने लगी रौनक

0
147

political party
देहरादून : लगभग सवा महीने से चुनावी रंग में रंगा उत्तराखंड सोमवार की सायं खामोश सा हो गया। प्रत्याशियों के प्रचार वाहन भूमिगत हो गये और जनसभाओं व रैलियों का सिलसिला थम गया। इसी तरह दिन-रात आबाद रहने वाले राजनीतिक दलों के कार्यालय से भी रौनक गायब होने लगी है। कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की चुनावी ड्यूटी होने के कारण कांग्रेस और भाजपा के कार्यालय तक में गिनती के लोग दिखे।

मंगलवार को भाजपा मुख्यालय में गिनती के कार्यकर्ता मौजूद दिखे। वे चुनावी रणनीति में मशगूल थे और जल्द ही मतदान केन्द्रों की ओर रुख करने की योजना बना रहे थे। सभी कार्यकर्ताओं को पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में माहौल बनाने की जिम्मेदारी दी गयी है।  इसी तरह  कांग्रेस के पार्टी मुख्यालय में भी सन्नाटा पसरा हुआ दिखाई दिया। बताया गया कि अधिकांश कार्यकर्ता और पदाधिकारी अपने-अपने इलाके में जा चुके हैं। अब वे मतदान के बाद ही लौंटेगे। उधर, यह भी कहा जा रहा है कि कांग्रेस के कई पदाधिकारी और कार्यकर्ता अपनी उपेक्षा से आहत होकर मतदान के प्रति उदासीन हो गये हैं।

भाजपा ने किया बड़ी जीत का दावा

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विनय गोयल को पूरी उम्मीद है कि इस बार उनके दल की ही सरकार बनेगी। गोयल ने बताया कि 50 से 55 सीटों के साथ  प्रदेश में भाजपा की सरकार बन रही है।  उन्होंने मुख्यमंत्री हरीश रावत पर निशाना साधते हुए कहा कि सीएम रावत के एक के बाद एक स्टिंग ऑपरेशन  सामने आ रहे है। जिसमे वह आंखे बंद करके खरीद-फरोख्त की बात कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आंखें बंद करने वाला मुख्यमंत्री देश के किसी राज्य में नहीं होगा। इतना ही नहीं गोयल ने सीएम रावत के विधायकों पर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के नहीं उनके विधायकों  के भी स्टिंग ऑपरेशन ने प्रदेश की राजनीति को शर्मसार किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की इन हरकतों का जनता विधानसभा चुनाव में जवाब देगी।

रिपोर्ट – मोहम्मद शादाब

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here