नक्सली हमले में शहीद सीआरपीएफ जवान का शव लाया गया घर

0
160


कन्नौज : छत्तीसगढ़ के सुकमा इलाके में हुए नक्सली हमले में यूपी के कंन्नौज जिले का भी एक सीआरपीएफ जवान शहीद हो गया। शहीद जवान रामपाल यादव का पार्थिक शरीर आज उनके पैतृक गाँव लाया जा रहा है।

सौरिख थाना इलाके के परौर गाँव में सुबह जैसे ही छत्तीसगढ़ से सीरापीएफ जवान रामपाल यादव के शहीद होने की खबर उनके घर में आयी तो पुरे घर मातम फ़ैल गया । होली की तैयारी में जुटे परिवार में अचानक सब लोगो की आँखों में आँशु आ गए। बात गाँव में फैली तो पूरा गाँव शहीद के परिवार को सांत्वन्ना देने उमड़ पड़ा। शहीद रामपाल यादव की पत्नी व उसके दो छोटे बेटे पर पाहाड़ टूट पड़ा । पत्नी भाई बुजुर्ग पिता चाचा सबका रो रो कर बुरा हाल था। बुजुर्ग पिता बेटे की सहादत पर गर्व महसूस कर रहे उनका कहना था कि उनका बेटा देश के लिए शहीद हुवा इसलिए उनको दुःख नही उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा उनको कुछ नही चाहिए बस सरकार शहीद जवानों की सहादत का बदला ले। छोटा व बड़ा भाई व चाचा सरकार की नीतियो से नाराज नजर आये उनका कहना था हमारे देश के जवान शहीद होते है सरकार कुछ पैसा दे देती बस खानापूर्ति हो गयी उन्होंने सरकार से मांग की की वो बदला ले देश से पूरी तरह से नक्सलियों का सफाया करे। अगर सरकार ठोस कदम नही उठाती है तो गाँव से ही सेना में लोग जाते है वो अब सेना में नही जाएंगे। उन्होंने सरकार से ये भी मांग की कि देश में जो भी जवान शहीद हो उनके परिवार में बच्चे जबतक नाबालिक रहे तब तक उनको पूरी सैलरी मिलती रहे।

शहीद रामपाल यादव ने 2004 में सीआरपीएफ ज्वाइन किया था लखनऊ में उसके बाद प्रशिक्षण चेन्नई में लिया । उसके बाद दिल्ली में तैनात रहा । डेढ़ साल पहले व दिल्ली से छत्तीस गढ़ तैनाती में गया था । घटना वाले दिन से पहले उसका फ़ोन आया था कि वह होली पर घर आ रहा है । उसके बाद उसको सुचना मिली थी उसके साथियों पर हमला हो गया है वह नक्सलियों से मोर्चा लेने पंहुचा था तभी नक्सलियों ने उनकी टीम पर हमला हर कर दिया हमले में 12 जवान सहीद हो गए और 2 जवान घायल हो गए। बेटे की सहादत पर बुजुर्ग पिता को गर्व है। लेकिन गाँव में होली के माहौल में मातम पसरा रहा।

रिपोर्ट – सुरजीत सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY