ग्राहक सेवा केंद्र ने किया घपला, भटकने पर मजबूर हुए ग्रामीण

0
1245

बलिया (ब्यूरो)- सुखपुरा भारतीय स्टेट बैंक द्वारा संचालित सुल्तानपुर के ग्राहक सेवा केन्द्र पर संचालक द्वारा ग्राहको के पैसे के गोलमाल के बाद ग्राहक काफी परेशान है। संचालक प्रवीण कुमार सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। अब ग्राहक अपने पैसे के लिए बैंक का चक्कर लगा रहे है। वही तत्कालिक शाखा प्रबन्धक सुनिल कुमार उपाध्याय यहां से कार्यमुक्त हो कर नये तैनाती स्थल पर चले गये है।

बैंक सुत्रो की माने तो सुल्तानपुर के ग्राहक सेवा केन्द्र पर करीब चौदह से पन्द्रह हजार खाता धारक है। सेवा केन्द्र को छोटे छोटे ग्राहको के लिये खोला गया है। इसमे पचास हजार से अधिक नही जमा किया जा सकता। लेकिन यह बात किसी ग्राहक को नही बताया गया था। जाली पासबुक के माध्यम से केन्द्र संचालक पैसे का हेराफेरी करते रहा। इसी बीच करीब दस दिनो तक सेवा केन्द्र बन्द कर चला गया। इसको लेकर ग्राहको का गुस्सा फुट पड़ा वे सड़क पर उतर गये।

पुलिस प्रशासन के पहल पर शाखा सुखपुरा पर इसकी जाच शुरु हुई। जांच मे लाखो रुपये का हेराफेरी का मामला आने लगा।सैकड़ो ग्राहक संचालक के कार्यप्रणाली के गिरफ्त मे आ गये। सबसे मजे की बात है कि यह सब कई माह से चल रहा था लेकिन शाखा प्रबन्धक को इसकी भनक नही थी? यह लोगो को नही पच रहा है। लोगो का कहना है कि पुरा मानिटरींग शाखा सुखपुरा से होता था तो किसी भी कर्मचारी ने जाली पासबुक नही पहचान पाया। जब बलिया के अधिकारीयो ने जांच शुरु किया तो परत दर परत गलतीया दिखने लगी। शाखा प्रबन्धक सुनिल कुमार उपाध्याय को लगने लगा कि उनकी गर्दन भी फसेगी तो संचालक के खिलाफ थाने पर तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत कराया।

पुलिस ने मुकदमे के बाद संचालक को जेल भेज दिया।अब ग्राहको को जो पैसा मिलने की आशा थी वह भी खत्म हो गई। उच्चाधिकारीयो ने सुल्तानपुर ग्राहक सेवा केन्द्र को सिज कर को कोड भी निरस्त कर दिया है।जांच के नाम पर खानापुर्ती चल रही है। ग्राहक को बुला कर उनका खाता आधार कार्ड से जोड़ा जा रहा है।आज तक बैक प्रबन्धन यह नही बता पाया कि बैक से कितने रुपये का गोलमाल हुआ है। ग्राहको की माने तो उन लोगो के पैसे के गोलमाल होने मे शाखा प्रबन्धक भी कम दोषी नही है। लेकिन बैंक के उच्च पदाधिकारी उनको बचाने मे लगे है।शादी विवाह व खेती का सीजन है लेकिन आज तक वहा के ग्राहको को एक पैसा नही मिला। गोपालनगर निवासी बनारसी यादव ने बताया कि वे हार्ट का आपरेशन कराया है उनके खाता मे छत्तीस हजार रुपये था। उसमे से बाईस हजार निकाल लिया गया है।वह पैसे के अभाव मे दवां नही ले पा रहा है।बताया कि दो दिन मे कोई पहल नही होता है तो वह बैंक के बाहर आमरण अनशन करेगे।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here