सार्वजनिक उपयोग के लिए छोड़ी गयी सरकारी भूमि पर दबंगों का अवैध कब्जा

0
64

सुल्तानपुर (ब्यूरो) चकबन्दी के समय सार्वजनिक उपयोग के लिए जो भूमि छोड़ी गयी थी, राजस्व कर्मियों की मिलीभगत से दबंगों ने अवैध कब्जा कर रखा है। यहां तक कि लगभग 20 वर्षों से उक्त सार्वजनिक भूमि को कब्जा कर फसलें उगाई जा रही हैं और आर्थिक लाभ उठाया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार सदर तहसील क्षेत्र के सौरमऊ नगर में चकबन्दी के दौरान चकबन्दी अधिकारीयों ने ग्रामीणों के सार्वजनिक उपयोग के लिए खलिहान, घूर गड्ढा व् कोहर गड्ढे के लिए भूमि छोड़ी गयी थी। घूर गड्ढे की जमीन पर गाँव के ही रूद्र नरायन उर्फ़ बब्बू, खलिहान की भूमि पर उनके सगे छोटे भाई रमा नरायन उर्फ़ रामजी तथा कोहर गड्ढे की भूमि उन्ही के दूसरे छोटे भाई शिव नरायन उर्फ़ कक्कू ने अवैध रूप से कब्जा कर निजी उपयोग क्र रहे हैं । बीते 20 वर्षों से वो लोग उक्त सार्वजनिक सरकारी भूमि पर फसलें बोकर निजी तौर पर आर्थिक लाभ उठा रहे हैं। ग्रामीणों द्वारा शिकायत करने पर राजस्व कर्मी अधिकारीयों को झूठी रिपोर्ट देकर गुमराह तो करते ही हैं साथ ही दबंगों को शिकायत करने वाले का नाम भी बता देते हैं। जिससे शिकायत कर्ताओं को दबंगों का कोपभाजन होना पड़ता है। ग्रामीणों ने उक्त सार्वजनिक घूर गड्ढा,खलिहान व् कोहर गड्ढे की सरकारी भूमि को दबंगों से खाली करवाकर उनके द्वारा अब तक उठाये गए आर्थिक लाभ की प्रतिपूर्ति करवाये जाने की मांग जिलाधिकारी महोदय से की है।

रिपोर्ट – दीपक मिश्रा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY