नये निजाम में दागदार हुआ ददरी मेला, व्यापारियों ने बंद की दुकाने

0
99


बलिया : शुक्रवार का दिन बलिया के ऐतिहासिक ददरी मेला को कलंकित करने वाला रहा। हुआ यूं कि परम्परा से अलग हटकर मेला में दुकान लगाये व्यवसायियों ने नपा चेयरमैन एवं ईओं की मनमानी के विरोध में दुकाने बंद कर विरोध प्रदर्शन करने लगे, जिससे तकरीबन तीन घंटे तक मेला परिसर में भगदड़ की स्थिति रही।

हालांकि मौके पर पहुँचे मीना बाजार थानाध्यक्ष विवेक पाण्डेय की पहल पर नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी दिनेश विश्वकर्मा ने व्यापारियों की मांगे पूरी करने का लिखित आश्वासन दिया, तब जाकर दुकानदारों ने अपनी दुकाने खोली और माहौल शांत हो सका। गौरतलब है कि राष्ट्रीय क्षितित पर देश के दूसरे सबसे बड़े मेले के रूप में ख्यातिलब्ध ददरी मेला में देश के कोने-कोने से दुकानदार आते है और अपनी दुकाने लगाते है। लेकिन इस बार नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष अजय कुमार की मनमानी ने इस बार मेले की ऐतिहासिक छवि को धूमिल करने का कार्य किया है।

व्यापारी नेता सुनील गुप्ता का आरोप है कि चेयरमैन अपने प्राइवेट गुड़ो से व्यापारियों से अवैध वसूली करा रहे है और नहीं देने पर मारने पीटने की धमकी भी दे रहे है। आरोप लगाया कि इसी प्रकार चेयरमैन ने ताना शाही दिखाते हुए 18 प्रतिशत जीएसटी का बोझ मेला में दुकान लगाने वाले दुकानदारों पर थोप दिया है। जबकि नपा कर्मियों द्वारा दी रही पर्ची पर कहीं जीएसटी का जिक्र नहीं है। विरोध करने पर उनके द्वारा दुकानदारों संग दुर्व्यवहार भी किया जा रहा है। इसी के विरोध में व्यापारियों बंदी का ऐलान किया था। विरोध करने वालों में मुन्ना, शमसाद, अजहर, रामनाथ, विजय कुमार, रामइकबाल, कृष्णा कुमार के अलावा तमाम व्यापारी शामिल रहे।

ना साफ-सफाई ना मय्यसर पेयजल
बलिया। व्यापारियों का आरोप था कि नपा चेयरमैन पेयजल सफाई एवं बिजली के नाम कर की वसूली करते है लेकिन ना तो साफ-सफाई की व्यवस्था नपा प्रशासन द्वारा की गई है और ना ही शु( पेयजल उपलब्ध कराया गया है। आरोप लगाया कि बिजली के खम्भे तो लगे है लेकिन बिजली नादारत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here