दहेज लोभियों ने विवाहिता को मारपीट कर घर से निकाला

0
65

वाराणसी (ब्यूरो)- विवाह के कुछ दिन बाद ही ससुराल वालों ने 5,00,000 रुपए दहेज की मांग की थी किंतु लड़की के पिता के पास पैसा ना होने कारण के कारण पैसा नहीं दे सके तब ससुराल वालों ने लड़की को मारपीट कर रात में घर से निकाल दिया पीड़ित लड़की किसी तरीके से अपने माता-पिता को सूचना दी और अपने घर वापस आई ।

शिवपुर निवासिनी सौम्या का विवाह 16 नवंबर 2016 को चितईपुर निवासी अपूर्व चंद्रा के साथ धूमधाम से हुई, अपूर्व पुणे में मल्टीनेशनल कंपनी में कार्यरत है विवाह के ठीक 13 दिन बाद लड़का पुणे अपने कामकाज पर चला गया उसके बाद ससुराल वालों द्वारा लड़की को प्रताड़ित किए जाने का और 5,00,000 रुपया दहेज का मांग शुरू हो गई, लड़के द्वारा फोन करके दहेज़ के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा |

शुरुआत में लड़की ने यह सब बातें अपने माता पिता को नहीं बतायी लेकिन जब रोज रोज के प्रताड़ना से लड़की परेशान हो गई तब उसने अपने मायके वालों को संदेश दिया है कि मुझसे पाँच लाख रुपए लेकर आने की मांग की जा रहा है लड़की के पिता ससुराल गए और सास ससुर का पैर पकड़ कर रोए गिड़गिड़ाए कि अब हमारे पास पैसा देने का सामर्थ नहीं है लेकिन उन लोगों ने उनकी एक न सुनी, लड़की किसी तरीके से 6 माह तक ससुराल में नौकरों की तरह कामकाज करते हुए रही लेकिन ससुराल वालों का मन नहीं पसीजा |

बार-बार लड़की पर दहेज लाने के लिए दबाव बनाते रहे और अंततः ससुराल वालों ने मई माह में रात के समय लड़की को मारपीट कर घर से निकाल दिया | रोती बिलखती लड़की अपने पिता के साथ घर वापस आ गई | बीच में कई बार लड़की के पिता ने ससुराल वालों के सामने हाथ पैर जोडे कि हमारे पास अब देने के लिए दहेज नहीं है अपने सामर्थ्य अनुसार हमने अधिकतम खर्च किया लड़की को इस तरीके से घर से न निकाले लेकिन दहेज लोभियों ने एक न सुनी लड़की के पिता तृतीय श्रेणी के कर्मचारी कर्मचारी हैं सामर्थ्य से अधिक उन्होंने अपने विवाह में खर्च किया लेकिन उनका सारा पैसा बेकार हो गया |

लड़की ने बताया कि अपूर्व का पुणे में रहने वाली किसी लड़की से प्रेम संबंध है इस कारण से वह उसे अपने साथ नहीं रखना चाहता और यह भी कहा कि 5,00,000 रुपए लेकर आओगे तभी हमारे यहाँ रह सकती हो लेकिन तुम्हारी हैसियत हमारे यहाँ नौकरानी की होगी पत्नी की नहीं, लड़की ने बताया कि सुलह की सारी कोशिशें बेकार होने के बाद थक हार कर हमने दहेज लोभियों को सबक सिखाने के लिए शिवपुर थाने में पति अपूर्व चंद्रा, ससुर विपिन कुमार चंद्रा, सास सुषमा चंद्रा, जेठ प्रांजल चंद्रा, नन्द अनुकृति एव आकृति चंद्रा के ख़िलाफ़ दहेज का मुकदमा दर्ज कराया।

रिपोर्ट- सर्वेश कुमार यादव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here