तकनीकी खराबी के चलते नहीं हो सकी तीसरे दिन आतंकी डेविड हेडली की पेशी, ISI पर लगाय गंभीर आरोप

0
267

मुंबई- 26/11 मुंबई हमलों के आतंकी डेविड हेडली की आज मुंबई की विशेष अदालत में तीसरे दिन भी पेशी होनी थी लेकिन कुछ तकनीकी खराबियों के चलते आज मुंबई की विशेष अदालत में उसकी पेशी नहीं हो सकी और उससे पूछताछ एक बार फिर से होते-होते रह गयी I आपको बता दें कि आतंकी डेविड हेडली को भारत की तरफ से अब मुंबई हमलों में सरकारी गवाह बना लिया गया है I डेविड हेडली से मुंबई की विशेष अदालत में पूछताछ वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिये की जा रही है लेकिन तकनीकी खामियों के चलते नहीं हो पायी है I

अदालत ने अब यह पूछताछ कल तक के लिए टाल दी है I वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में तकनीकी खराबी आने के बाद अदालत ने पहले उस तकनीकी खराबी को दूर करने का प्रयास करने को कहा लेकिन जब ऐसा नहीं हो पाया तो अदालत ने कल तक के लिए इसे टाल दिया I अदालत से निकलने के बाद सरकारी वकील उज्जवल निकम ने कहा है कि अदालत ने डेविड हेडली के साथ पूछ-ताछ को तकनीकी खराबी के चलते कल तक के लिए टाल दिया गया है I अब कल यानि बृहस्पतिवार को सुबह तक़रीबन 7:30 बजे से लेकर 1:30 तक चलेगी I

26/11 हमले में भारत के रक्षा वैज्ञानिकों को निशाना बनाना चाहते थे आतंकी

मंगलवार को ISI के ऊपर लगाया था बड़ा आरोप –
आतंकी डेविड हेडली को अब भारत सरकार की तरफ से सरकारी गवाह बना लिया गया है उससे अब हमले सबंधित पूरी पूछताछ की जा रही है I फिलहाल मुंबई हमलों के संबंध में गवाही देते हुए आतंकी डेविड हेडली ने पाकिस्तान कि ख़ुफ़िया एजेंसी ISI के ऊपर बेहद संगीन आरोप लगाये है I डेविड हेडली ने बताया कि पाकिस्तान में जितने भी आतंकी संगठन चल रहे है उनमें से ज्यादातर को फंडिंग पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी के द्वारा किया जाता है I

लश्कर और जैैश की योजना का किया खुलासा –
पाकिस्तानी-अमेरिकी आतंकी डेविड कोलमैन हेडली ने कल भारतीय रक्षा वैज्ञानिकों और मशहूर सिद्धिविनायक मंदिर को निशाना बनाने की विफल योजना का खुलासा करते हुए कहा था कि आतंकी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन को आईएसआई की ओर से ‘आर्थिक’ और ‘सैन्य’ सहयोग दिया जाता है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here