राष्ट्रीय एकता को समर्पित थे पं. तारकेश्वर का आदर्श

बलिया (ब्यूरो)- अमर सेनानी एवं पूर्ण सांसद पं.तारकेश्वर पाण्डेय के आदर्श राष्ट्रीय एकता एवं सद्भावना की भावना को समर्पित थे। उनके बताये रास्ते पर चलकर ही राष्ट्र का एकता एवं अखंडता को और ज्यादा मजबूत बनाया जा सकता है।

उक्त उद्गार स्वतंत्रता सेनानी रामविचार पाण्डेय के है। वे आज सेनानी तारकेश्वर पाण्डेय की पुण्यतिथि के अवसर पर सतीश चंद्र कालेज चौराहा स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण के पश्चात उपस्थित जनों को सम्बोधित कर रहे थे। अध्यक्षता करते हुए पूर्वांचल के जाने माने साहित्यकार डा.जनार्दन राय ने कहा कि सेनानी तारकेश्वर पाण्डेय ने कांग्रेस शासन में भी कभी गर्हित समझौता नहीं किया। श्रीराम तिवारी ने सेनानी पाण्डेय जी को संसदीय प्रणाली का आलोक पुरूष बताया। संचालक जेपी पाण्डेय ने पाण्डेय जी को समाजवाद का पुरोधा तथा पूर्ण प्रधानाचार्य डा.शत्रुध्न पाण्डेय ने उन्हें गरीबों का मसीहा बताया। पूर्व प्रधानाचार्य डा.शिवकुमार मिश्रा ने आपसी भाईचारे को राष्ट्रीय एकता का मूल मंत्र बताया।

प्रतिमा पर माल्यार्पण करने वाले प्रमुख लोगों में कवि बीएन शर्मा, दिनेश पाण्डेय, राजनाथ पाण्डेय, वंशरोपन पाण्डेय, शिवाधार पाण्डेय, शशांक पाण्डेय, रमाशंकर पाण्डेय, जयशंकर मिश्र, डा.ओमप्रकाश पाण्डेय, अवनीश उपाध्याय, कवि फतेह चंद्र गुप्त बेचैन, विजयशंकर पाण्डेय, सुनील कुमार पाण्डेय, अलख पाण्डेय, कन्हैया लाल दूबे, यादवेन्द्र कुमार उपाध्याय, उमेश पाण्डेय, नर्वदेश्वर चौबे, रामजी पाण्डेय आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता डा.जनार्दन राय व संचालन जेपी पाण्डेय ने किया। शिवाधार पाण्डेय ने आये हुए अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here