करंट की चपेट में आने से दो सगे मासूम भाइयों की मौत, परिवार में छाया मातम

प्रतापगढ़(ब्यूरो)- समय के कुचक्र ने एक हँसते खेलते परिवार को बर्बाद कर दिया। दो मासूम बेटों की जान करंट ने ली, मां की ऐसी चीत्कार थी कि धरती का भी सीना फट जाए। जिसने भी घटना के बारे में सुना उसका कलेजा मुँह को आ गया।

हथिगवां थाना क्षेत्र के साजा गांव के मधुकर पुर निवासी राम सिंह गुडग़ांव में रहकर प्राइवेट नौकरी करता है। वहां पर राम सिंह अपनी पत्नी बच्ची व दो बेटे रितिक(12) व बाबू(8) के साथ रहते थे जहां पर दोनों पढ़ाई भी करते थे| बड़ा बेटा कक्षा छह का छात्र था जबकि छोटा बेटा बाबू कक्षा दो का। गर्मी की छुट्टी में दोनों बच्चे अपनी मां बच्ची देवी के साथ गांवा साजा मधुकर पुर आए हुए थे| शनिवार की दोपहर करीब 12 बजे बच्ची किसी काम में व्यस्त थी कि इसी बीच घर के अंदर कटे विद्युत तार की चपेट में बड़ा बेटा रितिक आ गया। थोड़ी देर में जब वह नही दिखा तो बच्ची ने बाबू से कहा कि जाओं देखा भैया क्या कर रहा है| वह जब घर के अंदर आया तो रितिक विद्युत करंट से चपका हुआ था, जिसे छुड़ाने के लिए उसने हाथ पकड़ा तो वह भी करंट की चपेट में आ गया और दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। थोड़ी देर बाद जब बच्ची घर में गई तो देखा कि दोनों बेटे जमीन पर पड़े हुए है| उसने शोर मचाते हुए आसपास के लोगों को जमा किया और इलाज के लिए कुंडा प्राइवेट नर्सिंग होम लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

रिपोर्ट- विश्व दीपक त्रिपाठी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY