दो करोड़ रूपये के कर्ज के बोझ से दबे नितिन ने की थी आत्महत्या

0
80


गोरखपुर ब्यूरो : कार मे जिंदा जलने वाले ज्वैलर्स नितिन अग्रवाल पर करीब दो करोड़ रूपये का कर्ज था इससे वह टूट चुके थे पुलिस और एसटीएफ की ओर से की गई तहकीकात मे यह भी बात सामने आई कि आईपीएल के मैचो मे सट्टा लगाने और मेटल ट्रेडिंग के काम पर भी नितिन ने लाखों रूपये गंवाये थे कर्ज मे डूबे नितिन ने ३६ लाख पचास हजार रूपये के नौ चेक काटे थे जिनके बाउंस होने के बाद उनके उपर पेनाल्टी भी लगी थी|

हादसे की थ्योरी ने कराई पुलिस की किरकिरी
शुरूआती जांच मे ही हादसा बताना गोरखपुर पुलिस के लिए किरकिरी का कारण बना कार मे आग की खबर पाकर पहुंचे एक अफसर ने पूरे घटना को चंद मिनटो मे ही हादसा बता दिया था अफसर ने कहा कि कार डिवाइडर से टकराई,फिर आग लग गई जिसमे जिंदा जलकर नितिन की मौत हो गई घटना के कुछ देर बाद ही घटनास्थल से नितिन की जली कार को हटा देने से भी जांच प्रभावित हुई खुद आईजी एसटीएफ ने नाराजगी जतायी थी| आईजी ने बताया कि मरने से पहले नितिन की पत्नी रश्मि से मोबाइल पर कई बार बात हुई थी नितिन ने उन्हे आत्महत्या करने की धमकी भी दी थी इससे परेशान होकर ही परिवार पुलिस के पास पहुंचा था|

पत्नी और जानने वालो को किया था २७ बार फोन
घर से निकलने के बाद पेट्रोल पंप और तेनुआ टोला टोल प्लाजा तक पहुंचने के बीच नितिन अग्रवाल ने पत्नी सहित जानने वालो को २७ बार फोन से कांल की थी ज्यादातर काल रकम के लेन देन को लेकर की गई थी गोरखपुर जोन के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया नौ अप्रैल की सुबह १०.२१ बजे से लेकर दोपहर १२ बजे तक नितिन १४ लोगो को फोन किये थे एक एसएमएस भी किया ११ इनकमिंग काल आई नितिन ने अपनी पत्नी से साफ कहा था कि वह आत्महत्या करने जा रहा है|

पत्नी को नितिन ने दी थी जहर खाने की सलाह
कार मे जिंदा जलने वाले नितिन अग्रवाल ने पत्नी को बच्चो के साथ जहर खाकर मरने की सलाह दी थी नितिन के दो बच्चे है एक तीन महीने का है पत्नी को सलाह देने के बाद ही नितिन नौ अप्रैल को घर से निकले थे फिर लौट कर नही आये यह सोच कर पूरे परिवार की रूह कांप जा रही है|
रिपोर्ट-जयप्रकाश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY