दिल्ली का जिगोलो मार्केट, रात होते ही यहाँ सजती है मर्दों की मंडी महिलायें लगाती है बोली

0
7199

sex in car

दिल्ली- हिंदुस्तान की राजधानी दिल्ली की गिनती दुनिया के सबसे विकसित देशों के शहरों में की जाती है लेकिन क्या आपको यह पता है कि दिल्ली में रात में मर्दों की भी मंडी सजती है | इस मंडी में जवान मर्दों के जिस्म की बोली दिन के उजाले में अपने आपको कथित सभ्य समाज की बेहद सभ्य, रईस कहने वाली महिलाएं लगाती है |

रात में 10 बजे से लेकर सुबह के 4 बजे तक सजता है जिगोलो मार्केट –
मीडिया में आई खबरों के हवाले से लिखा जा रहा है कि दिल्ली में मर्दों की यह मार्केट रात के 10 बजते ही लगनी शुरू हो जाती है और यह सुबह के 4 बजे तक चलती है | इस बाजार में बड़े-बड़े रईस घरों की महिलायें कार से आती है और यंग, हैंडसम से दिखने वाले मजबूत, सुडौल कद-काठी के जवान लड़कों की बोली लगाती है |

दिल्ली में मर्दों की जिस्मफरोशी का यह बाजार सरोजनी नगर, लाजपत नगर मार्केट, कमला नगर मार्केट और पालिका मार्केट के आस-पास के इलाके में सजती है | बताया जा रहा है कि इन बाजारों में दिल्ली के उस समाज की जयादातर महिलायें मर्दों की बोली लगाने के लिए आती है जिन्हें सुबह के उँजाले में सभ्य समाज की सभ्य महिला माना जाता है या फिर कहा जाता है |

पब, डिस्कों तक फ़ैल चुका है अब यह धंधा –
बता दें कि खबर है कि दिल्ली में मर्दों के जिस्मों की खरीदारी अब बस केवल सड़कों तक सीमित नहीं रह गयी है बल्कि यह दिल्ली के बड़े-बड़े पब, डिस्कों और काफी होउसों तक पहुँच चुकी है | यहाँ से भी बेहद आसानी के साथ आजकल जिगोलो की बुकिंग हो रही है |

एक ही रात में 15-20 हजार तक कमा लेते है युवक-
बताया यह भी जा रहा है कि जिगोलो मार्केट में पुरुषों की कीमत आज महिलाओं से कही ज्यादा है | दिल्ली में एक नार्मल जिगोलो की कीमत मात्र कुछ घंटों के लिए कम से कम 1500 से 3000 तक होती है | जबकि वही अगर उसे पूरी रात के लिए बुक किया जाता है तो उसके लिए उसे एक रात के 8000 से 10000 रूपये तक दिए जाते है | जानकारी यह भी मिली है कि जिन जिगोलो बॉयज के शरीर गठीले और सिक्स पैक्स एब्स होते है उन्हें इस धंधे में सबसे ज्यादा तवज्जों दी जाती है और उनकी कीमत 15000 से 20000 रूपये तक होती है | वही अगर इन्हें शहर से बाहर कही ले जाना होता है तो इनकी कीमत काफी ज्यादा बढ़ जाती है |

ख़ास ड्रेस से होती है पहचान –
पहचान के लिए जिगोलो अपने गले में रुमाल बांधकर रखते है | इस रुमाल की वजह से दूर से ही महिलायें जिगोलो को पहचान लेती है | सूचना तो यहाँ तक है कि आजकल दिल्ली के कई बड़े होटलों में भी जिगोलो मिल जाते है | होटलों में इनके गले में रुमाल नहीं बल्कि इनका एक ख़ास ड्रेस कोड होता है | जिससे इनके ग्राहक इन्हें पहचान लेते है और उसी ब्यक्ति से वह बात की जाती है जिसे यह समझ लिया जाता है कि यही जिगोलो है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here