डिजिटल भुगतान हेतु प्रत्येक बैंकर्स कैम्पों का आयोजन करें: जिलाधिकारी

0
59
फाइल फोटो

मैनपुरी(ब्यूरो)- जिला सलाहकार समिति बैंकर्स की बैठक से अनुपस्थित इलाहाबाद बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूको बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक के शाखा प्रबन्धकों के विरूद्ध राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के कन्वीनर को अर्द्ध शासकीय पत्र लिखे जाने, एलडीबी बैक के शाखा प्रबन्धक के विरूद्ध रजिस्ट्रेशन कोआपरेटिव को लिखे जाने, 60 प्रतिशत से कम जमा ऋण अनुपात वाले बैंको के शाखा प्रबन्धकों को चेतावनी जारी करने, लाभार्थीपरक येाजनाओं में बैंकर्स प्राथमिकता पर ऋण उपलब्ध करायें, डिजिटल भुगतान हेतु प्रत्येक बैंकर्स कैम्पों का आयेाजन करें। अकारण पत्रावालियो को लम्बित न रखें,जिन पर ऋण वितरण न हो सके पूर्ण विवरण अंकित करें, पत्रावली वापिस करें।

बैठक से अनुपस्थित खादी ग्रामोद्योग अधिकारी को कारण बताओ नोट जारी कर उनके विरूद्ध विभागाध्यक्ष को लिखा जाये। उक्त निर्देश जिलाधिकारी यशवन्त राव ने बैठक की समीक्षा के दोैरान दिये। उन्होने असन्तोष व्यक्त करते हुए कहा कि कुछ बैंकर्स लगातार सलाहकार समिति की बैठक से अनुपस्थित रह रहे हैं उनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाये। उन्होने सचेत करते हुए कहा कि बैकर्स कार्य प्रणाली सुधारें, कई बैंको का ऋण जमा अनुपात काफी खराब है। इलाहाबाद बैंक का ऋण अनुपात गत माह के सापेक्ष 1.18 प्रतिशत, कोआपरेटिव बैंक का 14 प्रतिशत, यूको बैंक का .20 प्रतिशत जिला सहकारी बैक का 1.39 प्रतिशत घटा है जो निराशाजनक है। वही इलाहाबाद बैंक का 36.26 प्रतिशत, ओरियन्टल बैंक आफ कामर्स का 22.05 प्रतिशत, यूको बैंक का 4.78 प्रतिशत है जो काफी खराब है । उन्होने कहा किे किसी भी दशा में सीडी रेशियेा 60 प्रतिशत से कम नही होना चाहिए, जनपद की अधिकांश बैंक खातेदारो से धन तो जमा करा रही है परन्तु मानक के अनुसार ऋ़ण वितरण में रूचि नहीं ले रही है। बैंकर्स ऋण वितरण करें और सी.डी. रेशियों सुधारे।

श्री राव ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि राष्ट्ीय ग्रामीण आजीविका मिशन जैसी महत्वपूर्ण योजना मे भी बैंकर्स पत्रावलियेां पर ऋण वितरण नहीं कर हैं, बैंक आफ बड़ौदा में 18 फरवरी 2016 की पत्रावलियां लम्बित है, ग्रामीण बैंक में भी पत्रावलियां शेष है। उन्होने डीसीएनआरएम को बैंकवार लम्बित पत्रावलियो की सूचीं उपलब्ध कराय जाने के निर्देश दिये।साथ ही सहयोग न करने वाले बैंकर्स के विरूद्ध शासन को लिखे जाने को कहा। उन्होेने किसान के्रडिट कार्ड की समीक्षा मे पाया कि व्यवसायिक बैको ने 47565 लक्ष्य के सापेक्ष 527 केसीसी का नवीनीकरण किया जबकि 3488 नये केसीसी के सापेक्ष 867 की पूर्ति की। सहकारी बैंको ने 6510 के सापेक्ष कोई केसीसी नवीनीकृत नही किया गया जबकि 407 नये केसीसी लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति शून्य रहीे।

इस पर उन्होने बैंकर्स से स्थिति सुधारने के निर्देश दिये जिलाधिकारी ने स्पेशल कम्पोनेन्ट प्लान की स्वत; रोजगार योजना 1240 लक्ष्य के सापेक्ष अभी कोई प्रार्थना पत्र बैंको को प्रेषित नही किये गये हैं विभिन्न बैंको में 267 पत्रावलियां गत वर्ष की लम्बित है जिस पर उन्होने बैंकवार लम्बित प्रार्थना पत्रो की सूचीं उपलब्ध कराये जाने के निर्देश समाज कल्याण अधिकारी को दिये। उन्होने प्रधानमंत्री रोजगार सुजन कार्यक्रम,प्रधानमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार येाजना, शिक्षा ऋण,फसल बीमा,, खादी गोमोद्योग बोर्ड, मुख्यमंत्री रोजगार योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना आदि की बिन्दुवार गहन समीक्षा की इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार गुप्ता, डी.सी.एन.आर.एल.एम राम शिरोमणि मौर्य, जिला कृषि अधिकारी पी.सी विश्वकर्मा विभिन्न बैंको के शाखा प्रबन्धक आदि उपस्थित रहे। बैठक का संचालन अग्रिण जिला प्रबन्धक देवेन्द्र कुमार अग्रवाल ने किया।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY