शराब बंदी को लेकर सड़क पर उतरीं महिलाएं, निकाली रैली, यू0पी0 शराब बिक्री पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाने की मांग

0
285

रोहनियाँ/वाराणसी (ब्यूरो)- राजातालाब स्थित डाक बंगला पर लोक समिति के तत्वाधान में उत्तर प्रदेश में पूर्ण शराब बंदी की माँग को लेकर शुक्रवार को हजारों महिलाएं सड़क पर उतरी। लोक समिति द्वारा आयोजित धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में शराब बंदी को लेकर आराजी लाइन और सेवापुरी ब्लाक के दर्जनों गाँव से आयी स्वयं सहायता समूह महिलाओं ने ढोल नगाड़ों के साथ जोरदार रैली राजातालाब सिचाई डाक बंगला से निकाली।

तख्ती बैनर लिए महिलाएं नारा लगा रही थी, शराब पीना बंद करो, शराब बेचना बंद करो, शराब ही समाज को खोखला कर रही है आदि कई प्रकार के स्लोगन लिखे तख्ती के साथ पूरे राजातालाब बाजार का भ्रमण किया। इस दौरान जी. टी. रोड पर अफरातफरी का माहौल बन गया। सड़क के दोनों किनारो पर गाड़ियों की लंबी लाइन लग गयी। और घंटो जाम की स्थिति बन गयी।

ब्लॉक मुख्यालय से होते हुए राजातालाब तहसील पर जोरदार प्रदर्शन किया-
तहसील पहुँचते ही लोगों ने शराब विरोधी नारे लगाए और उपजिलाधिकारी ईसा दुहन को ज्ञापन के माध्यम से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से यू0पी0 में पूर्ण शराब बंदी की मांग का तथा गांव से लेकर शहर तक हर सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं के लिये महिला शौचालय की ब्यवस्था, महिलाओं को निःशुल्क स्वास्थ्य, दवा की ब्यवस्था, सहित सात सूत्रीय मांगपत्र सौपा।

रैली के उपरान्त सिंचाई डाक बंगला में महिला सम्मेलन का आयोजन किया गया। सभा में महिलाओं ने कहा कि आज समाज के ज्यादातर लोग शराब में डूब चुके है और इसका खामियाजा महिलाओं को भुगतना पड़ रहा है। महिलाओं के उपर होने वाली घरेलू हिंसा, उत्पीड़न, बलात्कार, मारपीट, आदि का सबसे बड़ा जिम्मेदार शराब है।

समाजिक कार्यकर्ती तनुजा मिश्रा ने शराब को समाज की कुरीति बताकर इसे पूरे प्रदेश में बिहार की भांति बंद करने की मांग की। महिला चेतना समिति कि निदेशिका रंजू सिंह ने कहा कि शरीर मे जैसे कुष्ठ रोग शरीर को बेकार कर देता है। उसी प्रकार शराब समाज को भी कुष्ठ रोग की भांति खराब कर रही है। जनता के हित में इसे बंद किया जाए।

सभा के अंत में महिलाओं ने तय किया कि गांव गाँव में शराब के खिलाफ अभियान चलाया जायेगा धरने में मुख्य रूप से रंजू सिंह, तनुजा मिश्रा, विनीता सिंह, अनीता, नाजमा, सरिता, सोनी, श्रद्धा, आशा, मधुबाला, मनजीता, शमबानो, प्रेमा, चन्द्रकला, आशा, ममता, मैनम, कुसुम, पूजा, सितारा, सुमन, प्रीति, नीतू, सुषमा, नन्दलाल मास्टर, अमित, श्यामसुन्दर, विजय, रामबचन, सुनील आदि लोग शामिल रहे। धरने का नेतृत्व नाजमा, संचालन सरिता, अध्यक्षता सरिता और धन्यवाद ज्ञापन आशा और मनजीता ने किया।

रिपोर्ट-त्रिपुरारी यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here