काशी की स्वच्छता में रोड़ा बन रहे सरकारी महकमे

0
154


वाराणसी (ब्यूरो)- देश में चल रहे स्वच्छता सर्वेक्षण के मद्देनजर नगर निगम शहर की सफाई व्यवस्था बनाये रखने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दिया है। शहर को साफ-सुथरा बनाने के लिए हर उचित उपाय किया जा रहा है। शहर में दिन व रात दो समय सफाई, कूड़ा उठान, नये मूत्रालय व शौचालय बनाये जा रहे हैं और पुराने की सफाई की जा रही है। इसके साथ ही लगातार जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। नगर निगम व जिला प्रशासन काशी को स्वच्छ व सुन्दर बनाने और स्वच्छता सर्वेक्षण में अधिक से अधिक अंक पाने में लगा हुआ है। लेकिन नगर निगम के इतने मेहनत के बाद भी काशी स्वच्छ नहीं हो पा रही है। काशी की स्वच्छता में सरकारी विभाग सबसे बड़ा रोड़ा बन रहे हैं।

बनारस की गंदगी की एक बड़ी वजह है, शहर में सार्वजनिक शौचालय व मूत्रालयों की कमी। यूरिनल की कमी के कारण स्थानीय जनता के साथ ही बाहर से आने वाले लोगों को काफी परेशानी होती है और जनता को मजबूरन खूले स्थानों का ही उपयोग करना पड़ता है। काशी की स्वच्छता व जनता की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए नगर निगम ने शहर में विभिन्न जगहों पर मूत्रालय व शौचालय बनवाने का निर्णय लिया और कुछ जगह बनवा भी दिया। लेकिन अन्य सरकारी संस्थानों से सहयोग न मिलने में नगर निगम को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

नगर आयुक्त श्री हरि प्रताप शाही ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण व जनता की परेशानियों को देखते हुए शहर में मूत्रालय व शौचालय बनवाने के लिए 229 जगहों को चिन्हित किया गया था, जिसमें सिर्फ 50 जगहों पर ही मूत्रालय व शौचालय बनाये जा सके। नगर आयुक्त ने कहा कि यूरिनल चाहिए तो सबको लेकिन किसी को अपने संस्था या परिसर के आस-पास नहीं चाहिए।

नगर आयुक्त ने बताया कि बीएचयू की बाउंड्री के पास मूत्रालय व शौचालय बनवाया जा रहा था, जिसे बीएचयू प्रशासन ने रोकवा दिया। इसी तरह अन्धरापुल के पास यूरिनल का निर्माण कार्य चल रहा था, जिसे रेलवे प्रशासन उसे तोड़वाने लगे। नगर आयुक्त ने बताया कि महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ व सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर के चारों ओर गंदगी है। इसके बाद भी विश्वविद्यायल प्रशासन ने यूरिनल निर्माण के लिए जगह उपलब्ध कराने को तैयार नहीं।

रिपोर्ट – दीपनारायण यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY